जागरण संवाददाता, धनबाद: IIT ISM धनबाद अब छोटे छोटे व्यवसायियों और किसानों से जुड़कर उनके व्यापार को बढ़ाने में उनका सहयोग करेगा। केवल यही नहीं आईआईटी धनबाद के विशेषज्ञ न केवल तकनीकी रूप से बल्कि व्यवसाय में आ रही अन्य व्यवसायिक परेशानियों को भी दूर करने का प्रयास करेंगे। दरअसल लघु एवं सूक्ष्म उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए आईआईटी धनबाद केंद्र सरकार के नीति आयोग की लघु एवं सूक्ष्म उद्योग को बढ़ावा देने की परियोजना में सहयोग करेगा इसकी जिम्मेवारी नीति आयोग ने आईआईटी धनबाद को दी है। इस परियोजना को कैसे धरातल पर उतारा जाए इसको लेकर संस्थान में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

इस मौके पर संस्थान के उपनिदेशक प्रोफेसर शालीवाहन ने कहा की आम जनमानस में लोगों को आईआईटी धनबाद के प्रति धारणा है, की यहां केवल उच्च तकनीकी के क्षेत्र में ही काम किया जाता है। यहां के छात्र बड़ी-बड़ी कंपनियों में नौकरी करते हैं। पर अब इस आम धारणा को हटाने के लिए लघु एवं सूक्ष्म उद्योगों को बढ़ावा दिया जाएगा। इसके लिए छोटे छोटे स्तर पर काम करने वाले किसान औद्योगिक संस्थान व्यवसाय सभी को सहयोग किया जाएगा, ताकि छोटे व्यवसायियों को एक बेहतर प्लेटफार्म दिया जा सके। उन्होंने कहा कि आईआईटी धनबाद का अटल सामुदायिक इनोवेशन सेंटर वैसे लोगों को आमंत्रित करेगा जो अपना व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं। उन्हें हर प्रकार से सहायता की जाएगी चाहे वह तकनीकी क्षेत्र हो कुशल कामगार का चित्र हो या व्यापार प्रबंधन का चित्र हो प्रत्येक महत्वपूर्ण बिंदुओं पर उन्हें सहायता उपलब्ध कराया जाएगा। अटल इन्नोवेशन सेंटर वर्तमान में 10 कंपनियों को इस कार्यक्रम के तहत सहयोग कर रहा है। इस मौके पर कई विशेषज्ञ सतपाल लघु एवं सूक्ष्म उद्योग को शुरू करने वाले व्यक्ति मौजूद थे।

Edited By: Atul Singh