झरिया : कोरोना काल व लॉकडाउन के कारण झरिया में सोमवार को ईद सादगी तरीके से मनाई जाएगी। रविवार को मुस्लिम समाज के लोग अंतिम रोजा रखेंगे। झरिया में ईद को लेकर रौनक फीकी है। कपड़े, लच्छा, इत्र की दुकानों नहीं खुले हैं। फुटपाथ पर लगनेवाली दुकानें भी नहीं लगी हैं। बाजार के दुकानदार मुख्तार, रहमान फरीद ने बताया कि कोरोना व लॉकडाउन के कारण इस वर्ष की ईद फीकी पड़ गई। मस्जिद कमेटी ने मुस्लिमों से ईद की नमाज घरों में ही रहकर शारीरिक दूरी बनाकर पढ़ने की अपील की है। नूरी मस्जिद कमेटी के सचिव मो. जावेद कुरैशी ने कहा कि झरिया के मस्जिदों में ईद की नमाज कुछ मौलवी ही पढ़ेंगे। यहां सामूहिक रूप से नमाज पढ़ने को लेकर मनाही की गई है। जामा मस्जिद झरिया के मौलाना असरार अहमद कादरी ने कहा कि मुस्लिम समाज के लोग शांति पूर्वक त्योहार को मनाएं। दूर से ही सलाम कर लोगों को ईद की मुबारकबाद दें। झरिया के मुस्लिम बहुल इलाके ऊपर कुल्ही, शमशेर नगर, शाह नगर, चौथाई कुल्ही, एना-इस्लामपुर, बनियाहीर, भागा मुस्लिम समाज के लोगों में त्योहार को लेकर पहले जैसा उत्साह नहीं है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस