जागरण संवाददाता, धनबाद: देवघर मोहनपुर की रहने वाली एचआईवी पीड़िता का आपरेशन के बाद सही से देख रेख नहीं करने की वजह से स्थिति काफी खराब हो गई है। आपरेशन के जगह पर काफी इंफेक्शन हो गया है। मांस का टुकड़ा सड़ कर गिर रहा है। इसके बाद स्वजनों ने अस्पताल परिसर में जमकर हंगामा किया। महिला के पुत्र ने बताया कि पिछले दिनों माता का आपरेशन हुआ था। उनके आंत में डाक्टरों ने गांठ बताया था। इसके बाद डाक्टर ने आधा आपरेशन करके पेट से एक पाइप बाहर निकाल दिया। आपरेशन होने के बाद कोई भी डाक्टर ने सही से निगरानी नहीं कर रहे थे। इस वजह से उनका जख्म बढ़ता गया। स्वजनों ने इसकी शिकायत एचआइवी पीड़िता के लिए काम कर रही संस्था धनबाद डिस्टिक लेवल नेटवर्क से की। नेटवर्क के अजीत श्रीवास्तव अस्पताल पहुंचे और डाक्टरों से बातचीत कर विरोध जताया। विरोध के बाद डाक्टर ने फिर से ड्रेसिंग करके जख्म को भरा। अजीत ने बताया कि मरीज के साथ अनदेखी करने की शिकायत वरीय अधिकारियों से की जाएगी।

ऑपरेशन के लिए होता रहा टालमटोल

एचआईवी पीड़िता को इससे पहले ऑपरेशन के लिए काफी टालमटोल होता रहा। मंत्री बादल पत्रलेख के निजी सचिव ने इस संबंध में अस्पताल के अधीक्षक को फोन किया था। इसके बाद महिला का ऑपरेशन शुरू हुआ था। स्वजनों ने बताया कि डॉक्टर ने अभी अधूरा ऑपरेशन किया है। डॉक्टरों का कहना है महिला के बड़ी आंत में कैंसर जैसा गांठ है। जिसका ऑपरेशन अस्पताल में संभव नहीं है। फिलहाल बड़ी हाथ काट कर गंदगी बाहर निकालने के लिए ऑपरेशन किया गया। लेकिन इसकी लगातार डॉक्टर निगरानी नहीं कर रहे हैं।

वर्जन

महिला की विशेष निगरानी के लिए विभागाध्यक्ष को निर्देश दिया गया है। उदासीनता बरतने वाले चिकित्सक कर्मियों पर कार्रवाई की जाएगी।

डॉ अरुण कुमार वर्णवाल, अधीक्षक

Edited By: Atul Singh