टुंडी : टुंडी इलाके में पहुंचे 23 हाथियों के झुंड ने गुरुवार की रात कई गाव के खेतों में जमकर उत्पात मचाया। करीब बीस एकड़ भूमि पर लगी फसल को पैरों तले रौंदकर बर्बाद कर दिया। हाथियों का झुंड वन विभाग की टीम को चकमा देकर भलपहाड़ी एवं दो मुंडा पहाड़ पर घूम रहा है।

हाथियों के झुंड ने गुरुवार की रात दुर्गारायडीह गाव के सुकुराम मराडी, वकील बाउरी, भरत बाउरी, प्रमोद बाउरी, पूरण बाउरी, हराधन बाउरी, सर्वेश्वर मुर्मू तथा छोटानागपुर गाव के नेपाल राय, मनोज हेम्ब्रम तथा बसहा गाव के बिनोद हासंदा, मोनो हासदा, दिनेश हासंदा तथा पोखरिया गाव के लुदुई हेम्ब्रम, रविलाल हेम्ब्रम, सुरेन्द्र मुर्मू के खेत की फसलों को रौंद डाला। दोमुंडा एवं भलपहाड़ी गाव में भी दर्जनों किसानों के धान को हाथियों ने अपना ग्रास बना लिया। टुंडी क्षेत्र में हाथियों के झुंड आने से ग्रामीणों में दहशत है। हाथियों के झुंड को भगाने के लिए वन विभाग का एक दर्जन मशालची टीम पहुंच गई है। हाथियों के डर से ग्रामीण धान की कटाई कर साइकिल से ढो रहे हैं।

बाल-बाल बचा युवक : टुंडी के गुलियाडीह जंगल में हाथियों का झुंड अलग-अलग होकर आराम फरमा रहा था। इसी क्रम में एक पागल युवक बालदेव कुमार ने यह कहते हुए उसके पास चला गया कि यह तो गणेश भगवान के अवतार हैं। उनके दर्शन से कुछ बुरा नहीं होगा। जैसे ही जंगल में हाथियों के पास पहुंचा हाथी ने उसे दबोचना चाहा लेकिन युवक पकड़ में नहीं आया। युवक का पैंट हाथी की सूंड़ से फट गया। वह किसी तरह जान बचाकर भागा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस