जागरण संवाददाता, धनबाद : सनातन संस्था और हिंदू जनजागृति समिति संयुक्त रूप से पूरे देश में आनलाइन गुरू पूर्णिमा महोत्सव का आयोजन करने जा रही है। इस कार्यक्रम का प्रसारण आनलाइन 11 भाषाओं में किया जाएगा। संस्थाओं का मानना है कि जब राष्ट्र और धर्म संकट में होते हैं, तब धर्मसंस्थापना का कार्य गुरु-शिष्य परंपरा करती है। भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन एवं आर्य चाणक्य ने सम्राट चंद्रगुप्त के माध्यम से तत्कालीन सामाजिक दुष्प्रवृत्तियों का निर्मूलन किया एवं आदर्श धर्माधारित राज्यव्यवस्था की स्थापना की। वर्तमान में भी समाज, राष्ट्र और धर्म की स्थिति दयनीय हो गई है। ऐसे समय जनता को प्रताडित करनेवाली लोकतंत्र की दुष्प्रवृत्तियों के विरुद्ध लडना तथा रामराज्य के समान हिन्दू राष्ट्र की स्थापना करना कालानुसार श्रीगुरुसेवा ही है। इस उद्देश्य को लेकर शनिवार को यह कार्यक्रम आयोजित होगा।

हिंदू जन जागृति समिति के धनबाद समन्वयक अमरजीत प्रसाद ने बताया कि हिन्दी, मराठी, अंग्रेजी, गुजराती, कन्नड, तेलुगु, तमिल, पंजाबी, बंगाली, ओडिया और मल्यालम भाषा में यह कार्यक्रम होगा। इस महोत्सव में श्रीगुरुपूजन, सनातन संस्था के संस्थापक गुरु डा. जयंत आठवले के मार्गदर्शन का संग्रहित भाग, स्वसुरक्षा का प्रत्यक्ष प्रदर्शन, आपातकाल की दृष्टि से की जानेवाली तैयारी एवं आपातकाल में हिन्दुओं की रक्षा और हिन्दू राष्ट्र की स्थापना के विषय में वक्ताओं का मार्गदर्शन होगा।गुरु का क्या अर्थ है, गुरुदेव का जीवन में महत्त्व, गुरुकृपा कैसे कार्य करती है, उसका मार्गदर्शन इस महोत्सव में होगा । वर्तमान महामारी के आपातकाल में ईश्वरीय बल की बडी आवश्यकता है। इसलिए इस महोत्सव में सम्मिलित होने से गुरुदेव का आशीर्वाद प्राप्त होगा एवं हिन्दुओं का धार्मिक संगठन भी होगा। सनातन संस्था ने आग्रह किया है कि सभी राष्ट्र और धर्मप्रेमी हिन्दू सपरिवार इस ऑनलाइन गुरुपूर्णिमा महोत्सव में शामिल हों। कार्यक्रम का प्रसारण 24 जुलाई को संध्या 6.30 बजे से यू-ट्यूब के माध्यम से होगा।

Edited By: Atul Singh