धनबाद, जेएनएन। जिले के तोपचांची प्रखंड के बीस सूत्री अध्यक्ष गिरिजाशंकर उपाध्याय ने गिरिडीह के पूर्व सांसद रवींद्र कुमार पांडेय पर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है। उन्होंने पुलिस से सुरक्षा की गुहार लगाई है। इस बाबत तोपचांची थाना में शिकायत भी की है।

उपाध्याय ने बताया कि शनिवार शाम वे तोपचांची प्रखंड सह अंचल कार्यालय में अंचलाधिकारी के पास बैठे थे। उनकी गाड़ी बाहर खड़ी थी। इसी दौरान गिरिडीह के पूर्व सांसद रवींद्र पांडेय अंचल कार्यालय पहुंचे। वहां मेरी गाड़ी देखकर अपने अंगरक्षक पंकज तिवारी से कहा कि जाकर गिरजाशंकर की गाड़ी सीज कर लो।

इसके बाद अंगरक्षक उनकी गाड़ी के चालक के पास पहुंचा और चाबी मांगी। उनके चालक ने चाबी देने से इन्कार कर दिया और सारी बातें उन्हें आकर बताईं। तब उपाध्याय बाहर निकले और अंगरक्षक से बात की। इसपर उसने कहा कि जब तक आप एक लाख रुपया नहीं देंगे तब तक गाड़ी वापस नहीं मिलेगी।

एनडीए प्रत्याशी की मदद करने के कारण खफा पूर्व सांसद

उपाध्याय के अनुसार, थोड़ी देर बाद रवींद्र पांडेय ने भी उन्हें अपने पास बुलाया और कहा कि मेरा एक लाख रुपया वापस करो, नहीं तो ठीक नहीं होगा। तुम मुझे नहीं पहचानते हो। मैं तुम्हारी हस्ती मिटा दूंगा, तुम्हे बर्बाद कर दूंगा। तुमने चुनाव में जेएमएम प्रत्याशी की मदद नहीं कर एनडीए प्रत्याशी की मदद की थी। सांसद चंद्र प्रकाश चौधरी से रुपये मांगकर वापस करो।

चुनाव के पूर्व दिए थे एक लाख रुपये

गिरजाशंकर ने बताया कि पिछले लोकसभा चुनाव के पूर्व रवींद्र पांडेय ने एक लाख रुपया दिया था, जबकि मैंने उनके कार्यक्रम में डेढ़ लाख रुपया खर्च किया था। 50 हजार रुपये मेरे लगे थे, लेकिन मैंने उनसे पैसा नहीं मांगा। इसका हिसाब उनके निजी सचिव को दे दिया था।

थाने में शिकायत मगर कार्रवाई करने से रोका

तोपचांची इंस्पेक्टर सह थाना प्रभारी सुरेश मुंडा ने कहा कि गिरजाशंकर चार-पांच लोगों के साथ शिकायत पत्र लेकर आए थे। उन्होंने पत्र दिया और कहा कि अभी रखिए। इसपर अभी कुछ नहीं करना है। गिरजाशंकर ने भी कहा कि थाना में शिकायत पत्र देते समय मैंने कार्रवाई नहीं करने की बात कही है।

भाजपा के पूर्व सांसद ने कहा- घटना की सूचना नहीं

इसपर भाजपा के पूर्व सांसद रवींद्र कुमार पांडेय ने कहा कि मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। जानकारी प्राप्त करने के बाद ही कुछ भी कह पाएंगे। बिना कुछ जाने कोई बात इस संदर्भ में कहना उचित नहीं है।

Posted By: Sagar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस