धनबाद, जेएनएन। बीबीएम कोयलांचल विश्वविद्यालय अंर्तगत बीएड कॉलेजों में फीस वृद्धि मामले में कुलपति व छात्रों के बीच एक बार फिर वार्ता विफल हो गई। वार्ता में विवि प्रशासन की ओर से कुलपति डॉ अंजनी कुमार श्रीवास्तव व बीएड छात्रों की ओर से आरएसपी कॉलेज झरिया के सम्राट झा शामिल थे। बीएड कॉलेज प्रतिनिधि के रूप में आरएसपी कॉलेज झरिया के प्राचार्य डॉ जेएन सिंह भी शामिल थे। त्रिपक्षीय वार्ता में सभी ने अपना-अपना पक्ष रखा।

छात्रों के प्रतिनिधि सम्राट ने बताया कि वार्ता के दौरान कुलपति की ओर से फीस को 20 हजार रूपये घटा कर एक लाख 30 हजार करने का प्रस्ताव दिया गया। लेकिन छात्रों ने इसे मानने से इंकार कर दिया और फीस को घटाकर पुन 90 हजार रूपये करने की माग की। सम्राट ने बताया कि मुख्य सचिव ने पिछले दिनों वार्ता में वर्तमान सत्र 2019-21 के लिए बीएड की पुरानी फीस रखने पर सहमति दी थी। उन्होंने कहा कि छात्रों का प्रतिनिधिमंडल बुधवार को राची जाकर दुबारा मुख्य सचिव से मिलेगा और अपनी बातों को रखेगा। मंगलवार को वार्ता के दौरान छात्रों ने फीस घटाने को लेकर अपना तर्क दिया।

छात्रों का कहना था कि फीस की बढ़ोत्तरी उनके काउंसिलिंग और नामाकन के बाद हुई। इससे उन्हें आर्थिक नुकसान हुआ। वहीं विश्वविद्यालय प्रशासन ने अपना पक्ष रखते हुए बताया कि बीएड सेल्फ फाइनांस कोर्स है, इसलिए आधारभूत संरचना बनाने के लिए फीस बढ़ोतरी जरूरी है। वार्ता में शभू कुमार झा, अभिाराज कुमार, नीतेश मिश्रा, मिथुन प्रमाणिक सहित कई अन्य छात्र मौजूद थे।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप