संवाद सहयोगी, टुंडी : दक्षिणी टुंडी में कुछ दिनों तक थमने के बाद बुधवार सुबह से फिर डायरिया ने पांव पसारना शुरू कर दिया है। आधा दर्जन ग्रामीण गंदे कुआं का पानी सेवन करने से डायरिया की चपेट में आ गए हैं। कटनियां पंचायत स्थित खोरमो गांव के लतारबहियार जनजातीय बहुल टोला में डायरिया पांव फैला रहा है। डायरिया की चपेट में आने से सारो मंझियाइन, गपुमणि मंझियाइन, सीतामुनि मंझियाइन, बुधनी मंझियाइन, अनिल हेंब्रम, शंकुतला देवी डायरिया से पीड़ित हैं। डायरिया फैलने की सूचना मिलने पर टुंडी प्रमुख कमला मुर्मू व पंचायत समिति सदस्य प्रतिनिधि कलेश्वर बास्की व टुंडी सामुदायिक चिकित्सा केंद्र के चिकित्सकों को जानकारी दी। इसके बाद टुंडी सामुदायिक चिकित्सा केंद्र की टीम डा. अभिषेक मुखर्जी के नेतृत्व में प्रभावित गांव पहुंची और मरीजों का इलाज करते हुए जलस्त्रोतों में ब्लीचिग पाउडर का छिड़काव किया। डा मुखर्जी ने सभी परिवारों से मिलते हुए लोगों के बीच जागरूकता अभियान चलाया। उन्होंने प्रभावित परिवार के लोगों को चापाकल का पानी गर्म कर सेवन करने व गर्म भोजन खाने की सलाह दी। चिकित्सीय टीम को अंदेशा है कि गंदे कुआं का पानी पीने से डायरिया बीमारी फैली है। गंदे जल को जांच के लिए भेजने की बात कही।

टुंडी विधायक मथुरा प्रसाद महतो ने टुंडी चिकित्सा प्रभारी से दूरभाष से बात कर प्रभावित गांव पर नजर रखने का निर्देश दिया है। उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि इसे गंभीरता से लिया जाए। कहा कि टुंडी में पिछले दिनों मे डायरिया ने काफी कहर बरपाया था। स्वास्थ्य विभाग की टीम को काफी मशक्कत करनी पड़ी थी, तब जाकर उसपर काबू पाया जा सका।

Edited By: Jagran