जागरण संवाददाता, धनबाद:  Lockdown, Lockdown News, Unlock Guidelines, July 25 झारखंड में वीकेंड लॉकडाउन में चल रहा है। सोमवार सुबह 6 बजे तक प्रभावी रहेगा। इस दौरान सब्‍जी, फल, राशन, क‍िराना स्‍टोर, म‍िठाई, कपड़ा आद‍ि की दुकाने पूरी तरह से बंद है। राहत देने वाली बात यह है क‍ि जरूरत की चीजें अभी भी बाजार में उपलब्‍ध है। मेड‍िस‍िन, पेट्रोल, डीजल, फूड की होम ड‍िल‍िवरी, दूध, घी, ब्रेड, दही, आयुर्वेद‍िक व होम‍ि‍योपैथ‍िक दवा दुकानें आद‍ि खखुलीं रहेगी। इसके अलवा अगर हवाई या रेल यात्रा करेन वाले, कोरोना का टीका लेने वालों को भी छूट दी गई है।

वीकेंड लॉकडाउन को समाप्‍त करें सरकार

अब बहुत हुआ वीकेंड लॉकडाउन व अनलॉक का खेल। अब पूरी तरह से दुकानों को खोलने का सरकार आदेश दे। धंधा अभी भी मंदा चल रहा है। व्‍यपार रफ्तार नहीं पकड़ रहा है। संडे को छुट्टी होने की वजह से लोग खरीदारी के ल‍िए न‍िकलते थे। ऐसे में बाजार को भी मुनाफा होता था। वीकेंड लॉकडाउन से इसमें ब्रेक लगा हुआ है। बाकी द‍िन तो लोग अपने-अपने कामों में व्‍यस्‍त रहते है, रविवार को ही उन्‍हें मौका म‍िल पाता है। इसका खाम‍ियाजा व असर मार्केट में लगातार ग‍िरावट के तौर पर देखा जा सकता है।

 30 जुलाई को खत्‍म हो सकता अनलॉक 5?

कोरोना संक्रमण को रोकने को लेकर राज्य में लाकडाउन लगा हुआ है। बीते दो माह में अनलाक की प्रक्रिया अपनाते हुए बाजार को खोला गया, लेकिन अब भी पूरी तरह से छूट नहीं मिली है। वर्तमान में चल रहे अनलॉक 5 को 30 जुलाई तक ही लागू रखा जाएगा, ऐसी संभावना जताई जा रही है। अब इसके बाद क्‍या होगा, इसका न‍िर्णय तो सरकार ही करेगी। या फ‍िर 30 जुलाई के बाद भी यही व्‍यवस्‍था बनी रहेगी ये तो आने वाला समय ही बताएगा।  व्यापारियों का कहना है कि कोरोना के मामले घट चुके हैं, इसलिए बाजार को पूरी तरह से खाेलने का आदेश राज्य सरकार दे।

क्‍या कहना है चैंबर ऑफ कॉमर्स के अध्‍यक्ष

फेडरेशन आफ धनबाद जिला चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष चेतन गोयनका ने कहा कि अब लाकडाउन पूरी तरह से समाप्त कर दिया जाना चाहिए। शनिवार की रात से लेकर सोमवार की सुबह तक लगने वाले वीकेंड लाकडाउन को भी हटा दिा जाना चाहिए। ताकि व्यापार और दुकानदारी रफ्तार पकड़ सके। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों ने जो दिशा निर्देश दिए हैं उसका कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराया जाना चाहिए। शादी विवाह समेत अन्य प्रकार के आयोजनों में लोगों की संख्या सरकार बढ़ाए या फिर इसे भी पूरी तरह से मुक्त करे। ताकि व्यापार और व्यापरियों व दुकानदारों को राहत मिल सके।

कोच‍िंंग, स्‍कूल व रेस्‍तरां खोलने की भी इजाजत म‍िले   

फेडरेशन के मांगों का समर्थन अन्य सभी चैंबर ने भी किया है। बैंक मोड़ चैंबर आफ कामर्स अध्यक्ष प्रभात सुरोलिया ने कहा कि वर्तमान में चार से पांच केस ही कोरोना के एक दिन में आ रहे हैं। इससे ज्यादा संख्या अन्य बीमारियों से पीड़ित लोगों की है। व्यापर एवं सामाजिक गतिविधियों को पटरी पर लाने के लिए अब लाकडाउन को समाप्त कर दिया जाना चाहिए। तीसरी लहर को लेकर सचेत रहने की जरुरत है। उन्होंने बताया कि अब भी होटल, रेस्तरां, कोचिंग, संस्थागत कार्य, प्रशिक्षण कार्य समेत तमाम तरह की गतिविधियां बंद हैं। जरुरी है कि सरकार व्यापार पर ध्यान दें।

 वीकेंड लॉकडाउन में भी म‍िलती रहेगी ये सेवाएं

  1. पेट्रोल-डीजल
  2. खाने की होम ड‍िल‍िवरी
  3. पैथोलॉजी लैब
  4. डायग्‍नोस‍िस सेंटर
  5. कोरोना टीकाकरण केंद्र
  6. रसोई गैस
  7. सीएनजी
  8. वेयर हाऊस
  9. गोडाउन
  10. हाइवे के आस-पास ढाबे
  11. अस्‍पताल
  12. अंग्रेजी दवाखाना
  13. आयुर्वेेद‍िक दवाई
  14. होम‍ियोपैथ‍िक दवाई
  15. दूध, दही, घी, ब्रेड, बटर

    इसके अलवा भी अगर आपको शहर से बाहर जाना है तो ब‍िना इ पास के वैध कारण बताते हुए जा सकते है। इसके अलावा कोरोना का टीका के ल‍िए भी घर से बाहर न‍िकल सकते है। वैध कारण बताने के बाद भी अगर बेवजह पुल‍िस परेशान करती है तो इसकी श‍िकायत ज‍िला प्रशासन से कर सकती है।

 

Edited By: Atul Singh