जागरण संवाददाता, धनबाद/ चासनाला। धनबाद के जिला एवं सत्र न्यायाधीश-8 उत्तम आनंद की माैत के मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने हादसे के चाैथे दिन उस ऑटो के मालिक के पति को गिरफ्तार किया जिसके धक्के से जज की माैत हुई। गिरफ्तारी के बाद पुलिस ऑटो मालिक के पति रामदेव लोहार से साजिश का सच पता लगाने में जुट गई है। इस मामले में ऑटो चालक लखन वर्मा और उसका दोस्त राहुल वर्मा पहले ही गिरफ्तार हो चुका है। अब सबको आमने-सामने बिठाकर पुलिस पूछताछ करेगी।

पाथरडीह थाना क्षेत्र से हुई गिरफ्तारी

चासनाला कामनी कल्याण स्थित भौरी खटाल समीप व पाथरडीह गुलगुलिया पट्टी के रामदेव लोहार के घर पर पुलिस की दबिश के बाद शनिवार की रात करीब 10: 45 बजे सुदामडीह थाना प्रभारी ने रामदेव लोहार को गिरफ्तार कर लिया। जिसे उसके भौरी खटाल घर से जोरापोखर थाना में बैठे सिंदरी डीएसपी अभिषेक कुमार के पास ले गई। जहां डीएसपी ने बिना देर किए रामदेव को सीधा धनबाद ले गई। रामदेव के गिरफ्तार होने के बाद पुलिस ने राहत की सांस ली है। अब देखना यह है कि रामदेव का जज के हत्याकांड में कितना नाता है।

बताया जाता है कि देर शाम से ही रामदेव के गिरफ्तार होने का ताना बाना बन रहा था। पुलिस लगातार उसके भौरी खटाल घर के आसपास चक्कर काट रही थी।

रामदेव को थी पल पल की खबर

रामदेव लोहार को क्षेत्र में हो रही पुलिस की दबिश व अन्य बातों की पल पल की खबर थी। वह पाथरडीह क्षेत्र में ही घर के आसपास घटना के बाद से अपना ठिकाना बदल बदल कर रहा था। उसे क्षेत्र की चप्पे चप्पे की जानकारी पहले से ही थी। जिसका उसे फायदा मिला। वह अपने पास मोबाइल नही रखा। ताकि मोबाइल ट्रैक कर पुलिस उस तक पहुंच सके। रामदेव कहां है। यह जानकारी उसके कुछ खास लोगों को ही थी।

हाफ पैंट व सर्ट पहने अचानक पाथरडीह पीपी केबिन के रेलवे लाइन के झाड़ियों में रामदेव छिपा था। जो झाड़ियों से स्वदेशी ढाबा के रास्ते झरिया सिंदरी मुख्य मार्ग होते हुए भौरी खटाल स्थित अपने घर पहुंचा। जहां से सीधा सुदामडीह पुलिस की वाहन में बैठ गया। जिसे पुलिस सीधा जोरापोखर के लिए निकल गई।

Edited By: Mritunjay