धनबाद : निरसा सीएचसी के प्रभारी और कोरोना वायरस से संक्रमित डॉक्टर एसके गुप्ता के संपर्क में आने वाली नर्स को लेकर स्वास्थ्य विभाग दिन भर परेशान रहा। बुधवार को स्वाब जाच कराने आई नर्स सदर अस्पताल से अचानक फरार हो गई थी। इसके बाद गुरुवार को दिनभर नर्स की खोज की जाती रही। इसकी सूचना सिविल सर्जन ने निरसा के अंचलाधिकारी और प्रखंड विकास पदाधिकारी को दी। अंचलाधिकारी ने खोजबीन करके मैथन स्थित क्वार्टर से नर्स को पकड़ा। इसके बाद नर्स शुक्रवार को सदर अस्पताल में आकर स्वाब जाच कराने की बात पर सहमत हो गई। नर्स का कहना है कि वह सदर अस्पताल से भागी नहीं थी। बल्कि उसके आखों में परेशानी है। एक डॉक्टर के साथ उनका अपॉइंटमेंट था। इस वजह से वह आख जाच कराने के लिए सदर अस्पताल से चली आई थी, क्योंकि सदर अस्पताल में लंबी भीड़ थी। इधर, नर्स की हरकत से स्वास्थ विभाग के अधिकारी बेहद खफा हैं। स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव ने भी नाराजगी जताई है। विभाग को अंदेशा है कि यदि नर्स संक्रमित हुई तो कई लोग संक्रमित हो सकते हैं। अविवाहित है नर्स, आसनसोल में नर्स के यहा ठहरे थे डॉक्टर

नर्स का घर मूल रूप से आसनसोल में है। वह निरसा सीएचसी में कार्यरत है। बगल में मैथन में एक क्वार्टर ले रखा है। इसी क्वार्टर में नर्स रहती है। बताया जाता है कि नर्स अविवाहित है। ज्ञात हो कि कोलकाता जाने के क्रम में डॉक्टर गुप्ता आसनसोल में नर्स के घर ठहरे थे। इसके काफी देर बाद वह कोलकाता के लिए रवाना हुए थे। इसके बाद से स्वास्थ विभाग के अधिकारी लगातार नर्स की खोज कर रहे हैं, लेकिन वह बार-बार अधिकारियों को चकमा दे रही है। नर्स पर होगी एफआइआर

नर्स की हरकतों को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी और जिला प्रशासन के पदाधिकारी एफआइआर करने की तैयारी में है। सिविल सर्जन डॉक्टर गोपाल दास ने बताया कि लगातार विभाग को भी नर्स परेशान कर रही है। इसके लिए विभागीय कार्रवाई भी होगी।

जागरण संवाददाता,धनबाद

निरसा सीएचसी के प्रभारी डॉ एस के गुप्ता के संपर्क में आने वाली नर्स ने अपना स्वाब नहीं दिया। सदर अस्पताल में लंबी लाइन देखकर नर्स गायब हो गई। नर्स ने सदर अस्पताल के डॉक्टरों को बताया कि उसका मोतियाबिंद का ऑपरेशन करवाना है। डॉक्टर से बुधवार के दिन को ही अपॉइंटमेंट करवाया है। स्वाब संग्रह में ज्यादा देर हुई तो वह जाच नहीं करवाएगी। इसके बाद नर्स लाइन से अपने घर चली गई। अब स्वास्थ विभाग नर्स की खोजबीन में जुट गया है। नर्स के आसनसोल स्थित आवास और मैथन स्थित क्वार्टर में भी खोजबीन की जा रही है। सिविल सर्जन डॉक्टर गोपाल दास ने बताया कि डॉक्टर गुप्ता के संपर्क में नर्स आई थी। इसलिए उसकी जाच जरूरी है। बुधवार को नर्स ने जाच के लिए तमाम प्रक्रिया की लेकिन अंत में स्वाद संग्रह नहीं कराया। इसकी जानकारी बाद में हो पाई, तब तक नर्स चली गई थी। वह विभाग को सहयोग नहीं कर रही है ऐसे में उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। आगे विभाग पाया एफआईआर करने की भी तैयारी में है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस