धनबाद, जेएनएन। सांसद पीएन सिंह ने कहा कि सत्ताधारी दल के लोग स्वयं कोई राहत कार्य नहीं कर सकते तो भाजपा नेताओं को न फंसाए। पीएन सिंह ने सिंदरी विधायक इंद्रजीत महतो पर प्राथमिकी का विरोध करते हुए कहा कि यह भाजपा नेताओं के खिलाफ साजिश है। बिजली गुल होने पर भाजपा विधायक ने अपनी निधि से ट्रांसफार्मर लगवाया। वे शारीरिक दूरी का पालन कर रहे थे। इंद्रजीत महतो पर मुकदमा दुर्भाग्यपूर्ण है।

भाजपा सांसद ने राज्य सरकार से मुकदमा वापस लेने की मांग की है। सिंह ने कहा कि कोरोना संकट में भाजपा के नेता व कार्यकर्ता हर तरफ राहत कार्य कर रहे हैं। कहीं हाइवे रिलीफ कैंप तो कहीं भोजन वितरण, मोदी आहार वितरण किया जा रहा है। सत्ताधारी झामुमो, कांग्रेस के नेता कहीं नजर नहीं आ रहे। ऐसे में वे भाजपा नेताओं को रोकने के लिए साजिशन उन्हें फंसा रहे है। उन्होंने कोरोना संकट से निपटने में झारखंड की हेमंत सरकार के उपायों को पूरी तरह विफल बताया।

जिला अध्यक्ष चंद्रशेखर सिंह ने भी मुकदमे का विरोध करते हुए इसे मनोबल तोड़नेवाला बताया है। इसे वापस लेने की मांग की है। बता दें कि विधायक इंद्रजीत महतो ने बुधवार को गाजे बाजे के साथ दर्जनों लोगों की मौजूदगी में ट्रांसफॉर्मर का उद्घाटन किया था। कार्यक्रम का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद जिला प्रशासन हरकत में आया। इसके बाद गुरुवार को गोविंदपुर सीओ की शिकायत पर सिंदरी विधायक समेत 36 लोगों के खिलाफ लॉकडाउन उल्लंघन मामले में प्राथमिकी दर्ज की गई है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021