धनबाद, जेएनएन। अब जबकि हाेली का एक सप्ताह शेष रह गया है धनबाद हाेलियाना मूड में आने लगा है। पब्लिक जब हाेलियाना मूड में हाे जाएगी ताे जाहिर है जनप्रतिनिधि भी अछूते नहीं ही रहेंगे। साे वे भी पूरी तरह हाेलियाना हाे गए हैं। हाल के वर्षाें में धनबाद में सबसे प्रसिद्ध हाेली मिलन का आयाेजन करने वाले अपने विधायकजी यानी धनबाद के विधायक राज सिन्हा भी पूरी तरह मूड में आ गए हैं। इस कदर मूड में कि अपनी चाैहद्दी से बाहर भी जमकर रंग-गुलाल उड़ा रहे हैं। अब प्रतिद्वंद्वियाें काे यह कहां बर्दाश्त हाेने वाला है कि वे उनके इलाके में आकर हुड़दंग करें। हालांकि होली की मस्ती में काेई किसी की परवाह ही कहां करते हैं। फिर विधायक जी ताे दूरगामी रणनीति लेकर हुड़दंगी बने हुए हैं। उन्हें कब से इन सबकी परवाह हाेने लगी। साे बुरा न मानाे होली है।

राज सिन्हा नहीं कर रहे होली मिलन समारोह का आयोजन

काेराेना के कहर काे देखते हुए उन्हाेंने अपनी ओर से होली मिलन का आयाेजन ताे नहीं किया है लेकिन कार्यकर्ताओं के आयोजन में जमकर शरीक हाे रहे हैं। पिछली बार फाग गायन के सिद्ध हस्ताक्षर गाेपाल राय काे आमंत्रित कर लिया था। ऐन माैके पर माेदी की ने दिशानिर्देश जारी कर दिया। साफ कह दिया, जोगी जी धीरे-धीरे...। विधायक जी भी ठहर गए। कोरोना आने ही वाला था। कहीं कोई उन्हीं पर तोहमत न लगा दे। इस बार कोरोनवा जाने वाला है। ऐसा न हो कि इनका होली मिलन का प्रेम देख फिर लाैट जाए। लिहाजा फिर किसी गायक को बुलाने से बेहतर खुद ही माइक संभाल ली है। गायक तो वे हैं ही। शनिवार काे गाेविंदपुर से शुरू की तो झरिया में जाकर दम लिया। एक जगह अभिभावक भी पहुंचे थे। हालांकि बीमारी से तत्काल उठे अभिभावक सराबोर होने का खतरा नहीं लेना चाहते। उधर विधायक जी हैं कि बिना रंगीन हुए मानने वाले नहीं। इधर आयोजन भी अधिकतर या ताे उनके खासमखास लोगों का हो रहा या संगठन के असंतुष्टों का। दाेनाें ही खेमे होली के हुड़दंग में रंग में भंग मिलाने का मौका भी ढूंढ रहे। उधर मेयर साहब बंगाल में पुआ पका रहे साे अलग। अबकी भाजपा की होली सचमुच रोचक होने वाली है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप