देवघर, जेएनएन। कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए राज्य सरकार विश्व स्वास्थ्य संगठन के निर्देशों के अनुरूप स्वास्थ्य व्यवस्था उपलब्ध कराने का प्रयास कर रही है। कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने कहा कि शीघ्र ही देवघर व दुमका में कोरोना की जांच की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। साथ ही राज्य के अस्पतालों में 40 वेंटिलेटर उपलब्ध कराए जाएंगे। 
रविवार को मंत्री ने कहा कि 200 इंफ्रारेड थर्मल सेंटर की व्यवस्था होगी जहां कोरोना की प्रारंभिक जांच हो सकेगी। चिकित्सकों व चिकित्साकर्मियों के लिए 4000 पीपीई (पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्यूपमेंट) की व्यवस्था की जा रही है। मास्क व सैनिटाइजर की कमी को भी दूर किया जा रहा है। गरीबों के लिए सभी जिलों में दाल-भात केंद्र शुरू करने का निर्देश दिया गया है। थाना स्तर पर भी जरूरतमंद लोगों को भोजन कराया जा रहा है। गरीबों को खाद्यान्न उपलब्ध कराने के लिए आपूर्ति विभाग को निर्देश जारी किया जा चुका है। सब्जी की कमी न हो, इसके लिए सरकारी स्तर पर भी दुकानें खोली जाएंगी। वहीं खेत से सीधे घर तक सब्जी पहुंचाने की व्यवस्था की जा रही है।

दूध बेचने वाले किसानों को परेशानी न हो, इसके लिए मेधा व सुधा से बात की गई है। जल्द ही सरकारी स्तर पर दूध खरीदा जाएगा ताकि किसानों को नुकसान न हो। अभी दूध का उपयोग दूध से जुड़े अन्य सामान बनाने में किया जाएगा। मंत्री ने कहा कि देवघर व बासुकीनाथ मंदिर श्राइन बोर्ड से एक-एक करोड़ रुपये अनुदान देने को कहा गया है। इन मसलों पर मुख्यमंत्री से बात हो गई है।

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस