बोकारो, जेएनएन। बोकारो सेल ने विगत माह स्टील प्लांट से निकलने वाले स्लैग के ट्रांसपोर्टेशन के लिए निविदा आमंत्रित किया। यह काम विगत नौ वर्षों से हिंदुस्तान स्टीलवर्क्स कन्स्ट्रक्शन लिमिटेड(एचएससीएल) नामक सरकारी PSU कर रही थी। लेकिन इस बार के टेंडर प्रक्रिया में ऐसे नए नियम बनाए गए कि इससे एचएससीएल की बाहर हो गई। पूरी प्रक्रिया जल्दी-जल्दी की जा रही थी ताकि स्लैग ट्रैन्स्पर्टेशन का ठेका अपने मनमाफिक प्राइवेट ठेकेदार को दिया जा सके।

एचएससीएल के खिलाफ बिगत नौ वर्षों में एक भी शिकायत नहीं पाई गई लेकिन उसे टेंडर प्रक्रिया से बाहर रखने में पीछे का खेल दूसरा है। सूत्रों की मानें तो पूर्व के एक वरिष्ठ अधिकारी ने अपने जाने के पूर्व ही यह रचना रची ताकि उनके नज़दीकी ठेकेदार को हि यह ठेका प्राप्त हो। फिलहाल इस धांधली की शिकायत प्रधानमंत्री कार्यालय से 13 फरवरी को की गई है जिसे संज्ञान लेते हुए 17 फरवरी को प्रधानमंत्री कार्यालय ने जांच के आदेश निर्गत किए।

सूत्रों के अनुसार इस करवाई को लेकर उन अधिकारियों में हड़कम्प है जो इस टेंडर प्रक्रिया का हिस्सा रहे हैं। आपको बता दें की पूर्व में एचएससीएल ने भी इस मामले को लेकर मंत्रालय और सेल के हेड ऑफ़िस में शिकायत दर्ज की है। उम्मीद है कि प्रधानमंत्री कार्यालय की जांच में जब परतें खुलेंगी तब इस धांधली में संलिप्त अधिकारियों पर करवाई भी हो।

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस