जागरण संवाददाता, धनबाद : शुक्रवार को चारों केंद्रीय श्रमिक संगठनों ने अपना संयुक्त मांग पत्र केंद्रीय कोयला सचिव डॉ. अनिल जैन व कोल इंडिया के चेयरमैन प्रमोद अग्रवाल को भेज दिया है। एटक से जेबीसीसीआइ सदस्य बनाए गए लखनलाल महतो ने बताया कि सभी मुद्दे पूर्ववत हैं। दो-तीन मामलों में फेरबदल किया गया है। संयुक्त मोर्चा ने कोल इंडिया से कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु 60 वर्ष से बढ़ाकर 62 वर्ष करने की मांग की है। इसके अलावा पूर्व के घोषणा पत्र में अटेंडेंस बोनस 15 फीसद करने की मांग की गई थी। उसे घटाकर 10 फीसद कर दिया गया है। कहा गया कि 15 फीसद करने से बेसिक घट जाएगा और फिर उसी के अनुसार अन्य सुविधाओं में भी कमी आ जाएगी। संगठनों ने कोल इंडिया के विखंडन का विरोध करते हुए उसके वर्तमान स्वरूप को बनाए रखने की मांग भी मांग पत्र में जोड़ी है। कहा है कि सीएमपीडीआइएल को अलग करने की योजना तत्काल रद कर कोल इंडिया के वर्तमान स्वरूप को बनाए रखा जाए। इसके अतिरिक्त सभी मांग यथावत हैं। पहली बैठक रांची में संभव :

संभव है कि जेबीसीसीआइ की पहली बैठक रांची में हो। ऐसा इसलिए क्योंकि अधिकांश जेबीसीसीआइ सदस्य रांची और आसपास के ही रहने वाले हैं। उन्हें आने-जाने में सुविधा होगी। श्रमिक संगठनों के नेताओं ने इस संबंध में प्रबंधन से बात की है और प्रबंधन राजी भी है। संभव है कि 20 जून को पहली बैठक बुलाई जाए। पहली बैठक में कोल इंडिया अपने उत्पादन, डिस्पैच, और उत्पादकता तथा कंपनी के लाभ-हानि से संबंधित डाटा पेश करेगी। जबकि दूसरी बैठक में चार्टर ऑफ डिमांड पर चर्चा होगी। सब कुछ ठीक रहा तो जुलाई में 11 वे राष्ट्रीय कोयला वेतन समझौता घोषित हो जाने की उम्मीद है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप