चासनाला : सेल चासनाला कोल वाशरी प्लांट में मृतक गुलजार सिंह का शव 27 घंटे बाद पुलिस-प्रशासन की पहल पर यूनियन व सेल प्रबंधन के बीच हुई वार्ता में बनी सहमति के बाद उठाया गया। वार्ता में प्रबंधन ने संवेदक मेसर्स जोसेफ कंस्ट्रक्शन ने परिजनों को दो लाख रुपये मुआवजा, पोस्टमार्टम व पुलिस अनुसंधान रिपोर्ट 15 दिनों में आने के बाद सेल नियमानुसार विधि सम्मत कार्रवाई करने की बात कही। इसके बाद पाथरडीह पुलिस ने शव को शाम को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। 24 घंटे के बाद वाशरी में उत्पादन कार्य शुरू होने के साथ रॉ कोल की ट्रांसपोटिग शुरू हुई। शव उठने के बाद सेल प्रबंधन ने राहत की सांस ली। वाशरी के 32 नंबर ओल्ड स्लरी थिकनर टैंक (सायरा) पानी में गुरुवार को 42 वर्षीय ठेका मजदूर गुलजार सिंह का शव तैरता हुआ पाया गया था। यूनियन नेताओं ने मृतक के परिजनों को लेकर नियोजन व पांच लाख रुपये मुआवजा की मांग को लेकर देर रात से वाशरी में डटे रहे। गुरुवार व शुक्रवार को प्रबंधन व नेताओं के बीच कई दौर की वार्ता के बाद शाम को सहमति बनी। मौके पर सिदरी के डीएसपी एके सिन्हा, झरिया सीओ राजेश कुमार, जोड़ापोखर थाना के इंस्पेक्टर अखिलेश कुमार ने यूनियन नेताओं व मजदूरों को समझाकर वार्ता में सहमति बनाई। विधि-व्यवस्था के लिए धनबाद से अतिरिक्त महिला व पुलिस को मंगाया गया था। सुदामडीह थाना प्रभारी विनय कुमार, गोशाला पुलिस के साथ पाथरडीह थाना प्रभारी ललितेश्वर चौधरी खुद मोर्चा संभाले थे। वार्ता में सेल के अधिकारी मो. अदनान, अजय कुमार, अशोक बनर्जी, जेपी नारायण यूनियन के संजय सिंह, मुरारी मोहन झा, विशाल महतो, दिनेश महतो, रोबिन महतो, कुंज बिहारी, विनोद महतो, प्रेम महतो आदि थे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस