जागरण संवाददाता, साहिबगंज। उपायुक्त राम निवास यादव की अध्यक्षता में जिला अनुकंपा समिति की बैठक उनके कार्यालय प्रकोष्ठ में शनिवार को हुई। इसमें उपायुक्त ने समिति के सदस्यों के साथ कुल 23 मामलों पर विचार विमर्श किया जिनमें शिक्षा अधीक्षक से संबंधित सात, कलेक्ट्रेट, जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय, ग्रामीण विकास विभाग व सिविल सर्जन कार्यालय से जुड़े दो-दो तथा पहाड़िया कल्याण, वन प्रमंडल, पुलिस अधीक्षक, औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान, समाज कल्याण विभाग, कल्याण विभाग, खनन विभाग एवं पशुपालन विभाग से जुड़े एक-एक मामले पर चर्चा हुई।

अनुकंपा समिति ने यह निर्णय लिया गया कि जितने भी अनुकंपा के अभ्यर्थी आवेदन समर्पित करेंगे उन्हें उपायुक्त या जिला अधिकारी स्तर का चरित्र प्रमाण पत्र देना अनिवार्य होगा। इस दौरान सभी मामलों पर चर्चा के क्रम में उपायुक्त ने समिति के साथ क्रमवार सभी आवेदकों के शैक्षिक अंक प्रमाण पत्र, शपथ पत्र, अनापत्ति प्रमाण पत्र व अन्य दस्तावेजों की बारीकी से जांच कर स्थापना शाखा को आवश्यक कार्रवाई हेतु दिशा-निर्देश दिया। बैठक में उपायुक्त ने सभी आवेदकों से संबंधित फाइल देखा उनमें समस्याओं को समाधान करते हुए पुनः आवेदन समर्पित करने का निर्देश दिया।

बैठक में कुछ आवेदनों की अनुशंसा का निर्णय लिया गया। वही कुछ आवेदन पर विचार विमर्श कर आवेदनों के शैक्षिक अंक प्रमाण पत्र, शपथ पत्र, अनापत्ति प्रमाण पत्र व अन्य दस्तावेजों की पुनः जांच करने का निर्देश दिया गया। इसके बाद संबंधित विभागों को अनुशंसा हेतु भेजी जाएगी। बैठक में उप विकास आयुक्त प्रभात कुमार बरदियार, अपर समाहर्ता अनुज कुमार प्रसाद, सिविल सर्जन डॉ अरविंद कुमार, जिला शिक्षा पदाधिकारी मिथिलेश कुमार झा, कार्यपालक अभियंता आरईओ, पशुपालन पदाधिकारी एवं अन्य उपस्थित थे।

 

Edited By: Mritunjay