जागरण संवाददाता, धनबाद। अगले महीने छठ है। महापर्व को लेकर अभी से ही बिहार जानेवाली ट्रेनें भर चुकी हैं। दिल्ली, मुंबई और गुजरात समेत बड़े शहरों से वापसी की राह भी अब मुश्किल है। कई ट्रेनें ऐसी हैं जिनमें छठ से पहले नो रूम है और टिकट बुक तक नहीं हो रहे हैं। ऐसे में अब स्पेशल ट्रेन और अतिरिक्त कोच ही विकल्प हो सकते हैं। छठ के दौरान यात्रियों को परेशानी न हो इसके लिए पूर्व मेयर चंद्र शेखर अग्रवाल डीआरएम आशीष बंसल से मिले। उन्होंने स्पेशल ट्रेन चलाने और धनबाद से खुलने वाली ट्रेनों में भीड़ बढ़ने पर अतिरिक्त कोच जोड़ने का डिमांड किया। मामला यात्री सुविधाओं से जुड़े होने के कारण सीनियर डीसीएम अखिलेश पांडेय ने पूर्व मेयर को रेलवे के प्लान की पूरी जानकारी दी।

इन जगहों के लिए चल सकती हैं स्पेशल ट्रेन

धनबाद होकर चलने वाली उत्तर बिहार की ट्रेनों की छठ से पहले काफी भीड़ है। इसके मद्देनजर सीतामढ़ी और कटिहार के लिए स्पेशल चलाने की योजना है। इसके साथ ही बिहार और पूर्वांचल जानेवाली मौर्य एक्सप्रेस में भी लंबी वेटिंग लिस्ट है। लिहाजा, धनबाद से गोरखपुर के लिए स्पेशल ट्रेन का प्रस्ताव मुख्यालय को भेजा जा रहा है। रेलवे बोर्ड से अनुमति मिल गई तो छठ स्पेशल के तौर पर स्पेशल ट्रेनें चल सकती हैं। धनबाद रेल मंडल ने तैयारी कर रखी है। सिर्फ रेलवे बोर्ड की हरी झंडी का इंतजार है। अनुमति मिलते ही स्पेशल ट्रेनों का परिचालन शुरू कर दिया जाएगा।

छठ से पहले की जा रही ट्रेनों की क्लोज मानिटिंग

सीनियर डीसीएम ने बताया कि छठ से पहले ट्रेनों में वेटिंग लिस्ट की क्लोज मानिटरिंग की जा रही है। जिन ट्रेनों में लंबी वेटिंगलिस्ट है, उनमें एक्सट्रा कोच जोड़ने का प्रयास किया जाएगा। धनबाद से खुलने वाली ट्रेनों के साथ-साथ यहां से गुजरने वाली ट्रेनों में अतिरिक्त कोच के लिए संबंधित जोन को भी प्रस्ताव भेजा जाएगा। 

Edited By: Mritunjay