निरसा : निरसा के डुभी स्थित अंकुर बायोकेम प्राइवेट लिमिटेड कंपनी पर खुदिया नदी से छेड़छाड़ करने आरोप लगाने के बाद निरसा के सीओ ने कंपनी को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। शनिवार को कंपनी के निदेशक महेंद्र शर्मा ने सीओ के इस नोटिस का जवाब दिया है। साथ ही एकरारनामा पत्र भी सौंपा है। शर्मा ने कहा कि खुदिया नदी से पानी लेने के लिए राज्य सरकार व डीवीसी से एनओसी मिला हुआ है। डीबीआरआरसी के आदेश के बाद वर्ष 2019 से ही कंपनी प्रबंधन डीवीसी मैथन को जल कर जमा कर रहा है।

कंपनी प्रबंधन ने करीब 10 लाख रुपया पांच वर्ष के लिए जलकर की राशि जमा कर चुका है। साथ ही डीबीआरआरसी जल संसाधन विभाग व डीवीसी से खुदिया नदी से पानी लेने के लिए भी करार किया है। चूंकि खुदिया नदी दामोदर की सहायक नदी है और यह जाकर दामोदर नदी में ही मिलती है, इस परिस्थिति में सरकारी नियम के तहत ही खुदिया नदी से पानी लिया जा सकता है। नदी के किनारे इंटेक वेल का निर्माण जिला प्रशासन व डीवीसी प्रबंधन के आदेश पर किया जा रहा है। शर्मा ने कहा कि कुछ अराजक तत्व आए दिन कंपनी के काम में बाधा पहुंचा रहे हैं। जबकि कंपनी आसपास के गांव के ग्रामीणों का रोजगार दे रही है। उन्होंने कहा कि खुदिया नदी का जलस्तर बना रहे इसके लिए आवश्यकता पड़ने पर कंपनी प्रबंधन डाउन एरिया में चेक डैम भी बनवाएगा। नदी का जल स्तर बना रहे इसके लिए कंपनी प्रबंधन गंभीर है।

Edited By: Jagran