धनबाद : आद्रा डिवीजन के भौरा रेलवे स्टेशन के रेलवे फाटक को 21 दिनों के लिए बंद करने की रेलवे तैयारी कर रहा है। इसको लेकर साउथ ईस्टर्न रेलवे अंर्तगत आद्रा डिवीजन नार्थ के डिवीजनल इंजीनियर सैयद अनवर अली ने धनबाद उपायुक्त संदीप सिंह को पत्र लिख कर अनुमति मांगी है। पत्र में डिविजनल इंजीनियर रेलवे ने फाटक की सड़क जर्जर होने का हवाला देते हुए कहा है कि इसके मरम्मत कार्य में 21 दिनों को समय लग सकता है, जो बिना रेलवे फाटक बंद किए संभव नहीं। उपायुक्त ने बताया कि ट्रैफिक डीएसपी राजेश कुमार ने शनिवार ही को रेलवे फाटक का निरीक्षण किया। जल्द ही रेलवे अधिकारियों के साथ होने वाली बैठक में तारीख व रूट डायवर्ट को लेकर विचार-विमर्श किया जाएगा। चंदनकियारी से धनबाद को जोड़ती है सड़क :

भौंरा रेलवे स्टेशन खड़गपुर-गोमो रेलखंड पर स्थित है, जो चंदनकियारी से बिरसा पुल होते हुए बंगाल व बोकारो को धनबाद से जोड़नेवाली सड़क है। रेलवे फाटक बंद होने से धनबाद से जाने वाले वाहन भौरा स्टेशन तक ही जा सकेंगे। छोटे वाहनों के लिए वैकल्पिक मार्ग चिह्नित किया जा रहा है। इसके अलावा बिरसा पुल पर भी भौरा की तरफ आने वाले वाहनों को रोका जा सकता है। तेलमच्चो के रास्ते धनबाद आएंगे सभी भारी वाहन :

चंदनकियारी के रास्ते कई बसें झारखंड के अन्य जिलों व बंगाल से आना-जाना करती हैं। इसके अलावा भारी वाहन भी चलते हैं। रेलवे फाटक के बंद होने से बस व भारी वाहनों को चास से तेलमच्चो ब्रिज के रास्ते झरिया व धनबाद आना होगा। हालांकि बैठक के बाद ही यह पता चल पाएगा कि छोटे व भारी वाहन किस रास्ते चलेंगे। वहीं इस नई व्यवस्था से धनबाद से जमशेदपुर और उस इलाके से सटे अन्य स्थानों पर जाने के लिए 50 किलोमीटर से ज्यादा की दूरी तय करनी पड़ेगी।

Edited By: Jagran