अलकडीहा : कोयला उद्योग में संयुक्त मोर्चा की तीन दिवसीय हड़ताल के बाद कोयला उत्पादन और डिस्पैच का जायजा लेने रविवार को बीसीसीएल के सीएमडी पीएम प्रसाद ने डीटी चंचल गोस्वामी के साथ लोदना क्षेत्र का औचक दौरा किया। छह नंबर में बने व्यू प्वाइंट से एनटीएसटी, जीनागोरा की विभागीय परियोजनाओं का निरीक्षण किया। दौरे के क्रम में सीएमडी ने देवप्रभा कंपनी की दोनों आउटसोर्सिंग परियोजनाओं का भी निरीक्षण किया। आउटसोर्सिंग में हड़ताल को विफल कर रोजाना सामान्य रूप से कोयला उत्पादन करने के लिए प्रबंधन की सराहना की। इसके बाद नौ नंबर साइडिग जाकर रेल से डिस्पैच व साइडिग में कोयले की गुणवत्ता की जानकारी अधिकारियों से ली। साइडिग में लगभग एक लाख टन कोयला के स्टॉक में लगी आग को देखकर सीएमडी भड़क गए। कोयला जलने से गुणवत्ता खराब होने की बात कहते हुए कोल अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई। चेतावनी देते हुए कोयले में लगी आग को शीघ्र काबू में करने का निर्देश दिया। कहा कि कोशिश यह हो कि अग्नि क्षेत्र में कोयला उत्पादन के समय ही पानी का छिड़काव कर गुणवत्तायुक्त कोयला का उत्पादन और डिस्पैच किया जाए। सीएमडी ने परियोजनाओं का निरीक्षण के क्रम में क्षेत्रीय प्रबंधन को परियोजना में बेंच बनाकर सुरक्षित स्थान पर मशीन लगाकर सुरक्षा का ख्याल रखते हुए कोयला उत्पादन करने का सख्त निर्देश दिया। प्रबंधन को परियोजना और ओबी डंपिग वाले क्षेत्र में पर्याप्त रोशनी की व्यवस्था करने की बात कही। मौके पर जीएम जीडी निगम, देवप्रभा कंपनी के एमडी एलबी सिंह, पीओ पंकज कुमार, विक्रय प्रबंधक अमित कुमार, डीके मांजी, एसके मिश्रा आदि कोल अधिकारी थे।

Edited By: Jagran