जागरण संवाददाता, धनबाद: सदर अस्पताल में टीका लेने आई एक महिला बेहोश हो गई। बेहोश होने के बाद आनन-फानन में महिला को ऑब्जर्वशन में डॉक्टरों ने रखा। लगभग एक घंटे के बाद महिला को अस्पताल से घर भेजा गया। हीरापुर की सुनीता पहला वैक्सीन का डोज लेने सदर अस्पताल आई थी। टीका लेने के बाद उसकी स्थिति खराब हो गई और चक्कर आने लगा। उसके बाद टीकाकरण केंद्र के बाहर ही महिला मूर्छित होकर गिर पड़ी। इसके बाद कर्मचारियों में अफरा-तफरी मच गई। इसकी तत्काल सूचना अस्पताल में बैठे डॉक्टर राजकुमार सिंह और डॉक्टर मासूम आलम को दी गई। पदाधिकारी भागकर महिला के पास पहुंचे और इसका इलाज शुरू किया। जांच करने के बाद महिला का ब्लड प्रेशर 110 / 70 पाया गया।

बेहोश होने के बाद परेशान हो गए स्वजन

महिला के बेहोश होने के बाद उसके स्वजन काफी परेशान हो गए। उनके रिश्तेदारों ने एंबुलेंस बुलाकर दूसरे अस्पताल में ले जाने की तैयारी करने लगे। लेकिन तत्काल डॉक्टर मासूम आलम ने इलाज कर महिला को आराम करने की सलाह दी। महिला ने बताया कि टीका लेने के बाद उसे ज़ोर का चक्कर आने लगा। इसके बाद उसे कुछ समझ नहीं आने लगा और वह गिर गई। मासूम ने बताया कि टीका लेने के बाद इसके कुछ लोगों में हल्की-फुल्की साइड इफेक्ट होते हैं। इसी के कारण हर टीकाकरण केंद्र पर अलग से ऑब्जरवेशन रूम बनाए गए हैं। लोगों से अपील की जाती है टीका लेने के बाद कम से कम आधे घंटे तक डॉक्टर के ऑब्जरवेशन में रहे। इसके बाद ही अपने घर के लिए प्रस्थान करें।

सदर में एक साथ तीन जगह पर टीकाकरण

सदर अस्पताल में एक साथ तीन जगह के लिए अलग-अलग टीकाकरण किए जा रहे हैं। यहां पर 15 से 18 वर्ष के बीच के किशोर किशोरियों को वैक्सीन दिया जा रहा है। वहीं 18 वर्ष 44 वर्ष, 45 से 59 वर्ष और 60 वर्ष से ऊपर के लाभुकों को टीका लगाया जा रहा है। दूसरी ओर सुबह 9:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक लोगों की कोरोना जांच भी की जा रही है।

Edited By: Atul Singh