धनबाद, जेएनएन। मुख्यमंत्री रघुवर दास जोहार जनआशीर्वाद यात्रा के तहत 16 और 17 अक्टूबर को धनबाद में रहेंगे। इस दाैरान धनबाद की जनता को विकास और कल्याणकारी योजनाओं की साैगात देंगे। इसके तहत झारखंड और बंगाल को जोडऩे के लिए धनबाद के चिरकुंडा में बराकर नदी पर बनने वाले नए पुल का ऑनलाइन शिलान्यास भी करेंगे। शिलान्यास समारोह गोल्फ ग्राउंड में होगा।

पश्चिम बंगाल का बराकर और झारखंड का चिरकुंडा पुल के माध्यम से जुड़ेगा। अभी जो पुल बना है वह सौ वर्ष पुराना है। इस पर भारी वाहनों का प्रवेश बंद है। ऐसे में नये पुल की जरूरत शिद्दत से महसूस हो रही थी। 55.56 करोड़ रुपये की लागत से नया पुल बनेगा। निर्माण की जिम्मेदारी दारोगा प्रधान कंस्ट्रक्शन को मिली है। पुल निर्माण के लिए 2015 के दिसंबर से प्रक्रिया शुरू हुई थी, जो वित्तीय वर्ष 2018-19 में पूरी हुई। इस पुल के निर्माण को लेकर झारखंड पथ निर्माण विभाग ने तीसरी बार निविदा की प्रक्रिया पूरी की। पुल बनने से धनबाद की बड़ी आबादी को काफी लाभ होगा।

डबल लेन होगा 572 मीटर लंबा पुल : 572 मीटर लंबे पुल में 11 खंभे होंगे। 55.56 करोड़ की लागत से इसका निर्माण होगा। सिंतबर में ठेकेदार को कार्यादेश मिल गया है। 2021 तक पुल का निर्माण कर देना है। विभाग इस बात पर ध्यान दे रहा है कि किसी को विस्थापन की आग में न झुलसना पड़।

टोल टैक्स से मिलेगा छुटकारा : चिरकुंडा पुल के कमजोर हो जाने पर विभाग की ओर से बड़े वाहनों के आवागमन पर दस साल से रोक लगी है। लोगों को मैथन के रास्ते आना जाना पड़ता है। वहां टोल टैक्स भी देना पड़ता है। इस कारण पश्चिम बंगाल के बराकर से व्यवसाय करने वाले व्यापारियों की परेशानी होती है। दरअसल बराकर की अनाज मंडी से निरसा, कुमारधुबी, चिरकुंडा, पंचेत के अलावा जिले के कई क्षेत्रों के अनाज मंडी के व्यापारियों का सीधा संबंध है। नया पुल बनने से टोल टैक्स से भी राहत मिलेगी।

चिरकुंडा बराकर नदी पर नया पुल का निर्माण होगा। शिलान्यास को लेकर जिला प्रशासन को तय करना है। 56 करोड़ की लागत से इसका निर्माण होना है। दो साल में काम पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

- अमरेंद्र साह, कार्यपालक अभियंता, पथ प्रमंडल धनबाद

Posted By: Mritunjay

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप