धनबाद : धनबाद से फिरोजपुर जानेवाली गंगा-सतलज एक्सप्रेस (लुधियाना एक्सप्रेस) में पूरे 80 दिनों तक सफर महंगा होगा। 17 सितंबर से पांच दिसंबर तक यह व्यवस्था प्रभावी रहेगी। छह दिसंबर से यात्री फिर से नियमित किराया चुकाकर सफर कर सकेंगे। धनबाद रेल मंडल के दबाव के बाद पूर्व मध्य रेल ने दूरी की बाध्यता हटाने की अनुमति दे दी है।

दरअसल, लुधियाना एक्सप्रेस से सफर करने वाले यात्रियों के लिए कम दूरी तक के सफर पर रोक लगा दी गई है। यहां के यात्रियों को गया, सासाराम, डेहरी ऑन सोन व मुगलसराय तक के सफर के लिए वाराणसी तक का किराया चुकाना होगा, जो मौजूदा किराए से अधिक होगा। उदाहरण के तौर पर धनबाद से गया तक स्लीपर में 110, थर्ड एसी 180 व सेकेंड एसी में 265 रुपये अधिक किराया चुकाना होगा।

वापसी से कहीं से भी कराएं आरक्षण

रेलवे ने ऐसी कोई शर्त वापसी में नहीं रखी है। धनबाद तक आने के लिए आरक्षण सुविधा पहले ही तरह ही किसी भी स्टेशन से उपलब्ध है।

----

ऐसे समझें रेलवे की बाजीगरी

धनबाद से वाराणसी

स्लीपर - 250

थर्ड एसी - 675

सेकेंड एसी - 965

----------------

वापसी का किराया

मुगलसराय से धनबाद

स्लीपर - 245

थर्ड एसी - 665

सेकेंड एसी - 950

सासाराम से धनबाद

स्लीपर - 205

थर्ड एसी - 550

सेकेंड एसी - 780

डेहरी ऑन सोन से धनबाद

स्लीपर - 190

थर्ड एसी - 495

सेकेंड एसी - 700

गया से धनबाद

स्लीपर - 140

थर्ड एसी - 495

सेकेंड एसी - 700

------------

दुर्गापूजा से छठ तक ज्यादा ढीली होगी जेब

धनबाद : लुधियाना एक्सप्रेस में दूरी की बाध्यता के कारण दुर्गापूजा से छठ तक हजारों यात्रियों की जेब ज्यादा ढीली होगी। पूजा की छुट्टियों के दौरान इस ट्रेन में काफी भीड़ रहती है और उस दौरान उन्हें अधिक किराया चुकाकर सफर करना होगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021