धनबाद, जेएनएन : पश्चिम बंगाल के शालीमार स्टेशन को कोचिंग टर्मिनल के रूप में विकसित किया जा रहा है। इसके लिए रेलवे युद्धस्तर पर काम रही है। नए कोचिंग टर्मिनल को आकार देने के लिए रेलवे ट्रैक बिछाने के साथ अन्य जरूरी काम पूरे किए जा रहे हैं। इस वजह से दर्जनों मेल-एक्सप्रेस और पैसेंजर ट्रेनों को 27 और 28 फरवरी को रद किया गया है। बंगाल की जिन ट्रेनों को रद किया गया है, उनका सीधा असर धनबाद के यात्रियों पर नहीं पड़ेगा। पर आसपास से होकर गुजरने वाली ट्रेनें रद होने या गंतव्य स्टेशन तक नहीं जाने से उनकी परेशानी बढ़ सकती है। कुछ ऐसी भी ट्रेन हैं जिन्हें रद नहीं किया गया है मगर बीच रास्ते में उन्हें घंटे-डेढ़ घंटे तक रोका जाएगा। जमुनियाटांड़ और महुदा होकर चलने वाली 08014 बोकारो-हावड़ा एक्सप्रेस 28 फरवरी को प्रभावित होगी। बोकारो से खुलने के बाद इस ट्रेन को रास्ते में तकरीबन सवा घंटे रोकने की योजना है। रेलवे अपनी सहुलियत के अनुसार इसे रोक कर चलाएगी। इससे पहले 27 फरवरी को 67 मेमू और तीन जोड़ी एक्सप्रेस ट्रेनों को रद किया गया है। 28 फरवरी को भी कुछ ट्रेनें रद रहेंगी।

 27 काे कई लंबी दूरी की ट्रेनें रद 

रेलवे ने 27 को जिन मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों का रद किया है उने लंबी दूरी महत्वपूर्ण ट्रेनें हैंं। हावड़ा-यशवंतपुर, हावड़ा-एर्नाकुलम, हावड़ा-अहमदाबाद और हावड़ा-मुंबई स्पेशल शामिल हैं। लंबी दूरी की इन ट्रेनों में महीनों पहले टिकट बुक कराना पड़ता है ताकि कंफर्म सीट मिले। काफी भाग दौड़ के बाद कंफर्म सीट मिलती हैं। अब एकाएक ट्रेन रद हो जाने से हजारों यात्रियों की परेेेेशानी बढ़ेगी। दूसरी किसी भी ट्रेन में कंफर्म सीट मिल पाना भी मुश्किल होगा।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021