जागरण टीम, आसनसोल/गिरिडीह। गिरिडीह जिला के बगोदर में राष्ट्रीय उच्च पथ 33 के किनारे घंघरी टोल प्लाजा के पास अवैध मिनी गन फैक्ट्री है। पश्चिम बंगाल की आसनसोल और गिरिडीह पुलिस ने मिनी गन फैक्ट्री में ताला जड़ दिया है। वहां असलहा बनाने की मशीन एवं उपकरण भी मिले हैं। मिनी गन फैक्ट्री रियायत अंसारी के घर में है। यह खुलासा पश्चिम बंगाल के बराकर में दो दर्जन से अधिक अर्द्धनिर्मित रिवाल्वर के साथ आस मोहम्मद उर्फ बबलू की गिरफ्तारी के बाद हुआ है। इससे पहले भी धनबाद के झरिया और पश्चिम बंगाल के कुल्टी में अवैध गन फैक्ट्री का खुलासा हो चुका है। 

दरअसल, गुरुवार को झारखंड और पश्चिम बंगाल सीमा पर बराकर में दो दर्जन से अधिक असलहों के साथ यास मोहम्मद उर्फ बबलू को आसनसोल पुलिस ने पकड़ा था। उसने खुलासा किया कि बगोदर में अवैध असलहे बनाए जाते हैं। इसके बाद आसनसोल और गिरिडीह पुलिस ने बगोदर में संयुक्त छापामारी की। इधर, मिनी गन फैक्ट्री का पता लगने के बाद कुल्टी थाना पुलिस ने शुक्रवार को यास मोहम्मद को आसनसोल न्यायालय में पेश किया। पुलिस ने न्यायालय से अनुरोध किया कि यास मोहम्मद को रिमांड पर दिया जाय। न्यायालय ने यास मोहम्मद को 10 दिनों के पुलिस रिमांड की अर्जी मंजूर कर ली। आसनसोल पुलिस यह जानना चाहती है कि दो दर्जन से अधिक असलहे किसे और कितने में देने के लिए झारखंड से लाए जा रहे थे। पुलिस को आशंका है कि किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के लिए इतनी अधिक संख्या में हथियार मंगाए गए थे।

कुल्टी के केंदुआ खिलानधौड़ा के रहने वाला यास मोहम्मद उर्फ बबलू को बराकर चेकपोस्ट के पास पकड़ा गया तो उसके पास दो दर्जन से अधिक असलहे देख पुलिस अवाक हो गई। पूछताछ में यास ने बताया कि वो बगोदर से असलहे ला रहा था। गुरुवार को ही बंगाल पुलिस बगोदर आई। यास मोहम्मद ने मिनी गन फैक्ट्री दिखा दी। घर में लेथ मशीन समेत कई ऐसे उपकरण दिखे जिससे असलहे तैयार होते हैैं। तत्काल उस घर में ताला मारा गया। पहरेदारी के लिए चौकीदार लगा दिया गया। मिनी गन फैक्ट्री मिलने के बाद शुक्रवार को बगोदर थाना पुलिस दिन भर छापामारी करती रही।

 

Edited By: Mritunjay