कतरास: कॉमर्शियल माइनिग के खिलाफ कोयला उद्योग में आहूत तीन दिवसीय हड़ताल के पहले दिन गुरुवार को बरोरा, ब्लॉक दो से लेकर सिजुआ एरिया तक कोयला उत्पादन व डिसपैच प्रभावित रहा। पैच में मशीनों के पहिए नहीं हिले। कुछ आउटसोर्सिंग परियोजनाओं में छिटपुट काम चला। संयुक्त मोर्चा के समर्थक कोलियरियों व परियोजनाओं में जमे रहे। कही खदान के प्रवेश द्वार पर तो कहीं खदान पर बंद का बैनर व झंडा गाड़कर डटे रहे। प्रबंधन काम चालू कराने की कोशिश की, लेकिन कर्मियों की एकजुटता के आगे उनकी एक नहीं चली। हालांकि, सुरक्षा को लेकर स्थानीय पुलिस व सीआइएसएफ जवान क्षेत्र में भ्रमण करते नजर आए। कतरास क्षेत्र की रामकनाली, सलानपुर व केसलपुर भूमिगत खदान व वेस्ट मोदीडीह विभागीय पैच में सन्नाटा पसरा रहा। जीएम जितेंद्र मल्लिक ने कहा कि हड़ताल का मिलाजुला असर रहा। एक रैक लोड हुआ है। गोविदपुर क्षेत्र की कोलियियों में उत्पादन व डिसपैच पर प्रभावित रहा।

सिजुआ: मोदीडीह कोलियरी में हड़ताल का व्यापक असर दिखा। कोई भी कर्मी ड्यूटी पर नहीं गए। एक-दो इंकलाइन की हाजिरी घर के पास कर्मियों ने प्रदर्शन किया। मौके पर शकील अहमद, इंद्रदेव भुइयां, मजहर अंसारी, भोला राम, नीरज गुप्ता आदि थे।

===============

बाघमारा: एकीकृत बीओसीपी माइंस में हड़ताल के कारण मशीनों के पहिए नहीं हिले। अहले सुबह से ही बंद समर्थक नेता अलग अलग यूनिटों में झंडा गाड़ दिया। अधिकांश कर्मी हाजिरी बनाने के लिए नहीं आए। कुछ आए भी तो हड़ताल का रुख देखकर घर को लौट गए। 14 नंबर हाजिरी घर, आरआर वर्कशॉप, रिजनल स्टोर, जमुनिया वर्कशॉप, जमुनिया हाजिरी घर, माटीगढ़ वाटर फिल्टर प्लांट, मधुबन वाशरी में उपस्थित नहीं के बराबर हुई। आरआर वर्कशॉप में जेनरल शिफ्ट में आठ से दस कर्मियों ने हाजिरी बनाई। क्षेत्रीय कार्यालय में 92 की जगह मात्र 24 कर्मी ड्यूटी पर आए। बेनीडीह पैच में डेको आउटसोर्सिग का कार्य ठप रहा। ======

बरोरा: मुराईडीह परियोजना में हड़ताल का व्यापक असर दिखा। प्रथम और जेनरल सिफ्ट में एक भी कर्मी न तो काम पर आए और न ही हाजिरी बनाई। कर्मियों की उपस्थिति नहीं होने के कारण परियोजना का काम पूरी तरह से प्रभावित रहा। बेनीडीह पियोर इंकलाइन बंद रहा।

=======

लोयाबाद: लोयाबाद, कनकनी, बासुदेवपुर में एक भी कर्मी हाजिरी नहीं बनाई। बांसजोड़ा में मात्र दो मजदूरों ने हाजिरी बनाई। बंद समर्थकों ने बांसजोड़ा छह नंबर पिट और बासुदेवपुर कोलियरी में कॉमर्शियल माइनिग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। दूसरी ओर आरसीएमएस के नेता एनके शर्मा के नेतृत्व में हड़ताली समर्थकों ने कनकनी, बांसजोड़ा, लोयाबाद, बासुदेवपुर, निचितपुर कोलियरी में काम बंद कराया। मौके पर संतोष चौधरी, अमरनाथ पासी, रामानंद सिंह, अरविंद यादव, मनोज पाल आदि उपस्थित थे। इधर राजद नेता सुखदेव विद्रोही के नेतृत्व में हड़ताली समर्थकों ने तेतुलमारी, मोदीडीह, जोगता आदि क्षेत्रों की आउटसोर्सिग परियोजना का काम बंद कराया।

==============

निचितपुर: निचितपुर कोलियरी की डिपार्टमेंटल परियोजना समेत कोलियरियों का काम पूरी तरह ठप रहा। कोलियरी वर्कशॉप परिसर में गाड़ियां खड़ी रही। हालांकि, यहां संचालित डेको आउटसोर्सिंग पैच का काम चालू रहा। संयुक्त मोर्चा ने निचितपुर कोलियरी कार्यालय के समीप प्रदर्शन किया और केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

इधर कुसुंडा क्षेत्र के ईस्ट बसुरिया कोलियरी में संचालित लिब्रा आउटसोर्सिंग पैच का काम गुरुवार को चालू रहा। जबकि कोलियरी का अन्य काम पूरी तरह ठप रहा। यहां भी संयुक्त मोर्चा ने कोलियरी की हाजिरी घर के समीप प्रदर्शन किया और केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। ================

तेतुलमारी: तेतुलमारीे और वेस्ट मोदीडीह परियोजना व कोलियरी में कामकाज ठप रहा। कर्मियों ने हाजिरी तक नहीं बनाई और आंदोलन पर उतर आए। खरखरी कोलियरी में हड़ताल शत प्रतिशत रहा। चार मजदूरों ने हाजिरी बनाई, जबकि सभी मजदूर हड़ताल पर रहे। इस दौरान पानी व बिजली की आपूर्ति भी बाधित रही। महेशपुर कोलियरी में हड़ताल सफल रहा। मजदूरों ने हाजिरी नहीं बनाई। पानी-बिजली भी बाधित रहा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस