कतरास : कॉमर्शियल माइनिग के खिलाफ कोयला उद्योग में तीन दिवसीय हड़ताल की सफलता के लिए संयुक्त मोर्चा ने शुक्रवार को कतरास, बरोरा व ब्लॉक दो क्षेत्र के विभिन्न कोलियरी व परियोजनाओं में सभा व बैठक की। संयुक्त मोर्चा ने बीओसीपी माइंस में सभा किया। पूर्व विधायक सह इंटक नेता ओपी लाल ने कहा कि कोयला उद्योग सिर्फ एक औद्यौगिक इकाई ही नहीं बल्कि परिवार की तरह है। जिसमें प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से लाखों लोग जुड़े हुए हैं। केंद्र सरकार के कॉमर्शियल माइंनिग के निर्णय से ऐसे लाखों लोग व उनके परिवार प्रभावित हो जाएंगे। केंद्र सरकार फिर से 1973 के पहले कोयला खान मालिकों वाली स्थिति पैदा करना चाहती है। एटक के विनोद मिश्र, बीएमएस के घुरण प्रसाद, सीटू के मानस चटर्जी, केएमपीआइ के अर्जुन सिंह, जमसं के गोपाल मिश्रा ने मजदूरों से हड़ताल को सफल बनाने का आह्वान किया। तुलसी साव, जेके झा, सुरेंद्र यादव, लगनदेव यादव, कुलदीप महतो, उत्तम पांडेय, जोगेंद्र सिंह, टीबी सिंह आदि थे। कतरास क्षेत्र में संयुक्त मोर्चा ने सभी पिट के हाजिरी घरों का भ्रमण कर तीन दिवसीय हड़ताल के लिए मजदूरों के बीच जनजागरण चलाया गया। एलपी महतो, भौमिक महतो, विपीन राय, मुकेश सिंह, छोटू सिंह, रामजीत महतो, वाल्मीकि यादव, कलीम खान, रंधीर सिंह, राजू सिंह, दिलीप कुमार, राजेश मंडल, ठाकुर महतो, सुनील महतो आदि शामिल थे।

बरोरा : संयुक्त मोर्चा ने तीन दिवसीय हड़ताल को सफल बनाने के लिए मुराईडीह कोलियरी में संयुक्त मोर्चा ने एक सभा की। श्रमिक संगठनों के नेताओं ने श्रमिकों को हड़ताल में शामिल होने का आह्वान किया। इंटक के ओपी लाल, मानस चटर्जी, विनोद मिश्रा, अर्जुन सिंह, गोपाल मिश्रा आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस