धनबाद, जेएनएन। धनबाद में पहली बार कोरोना वायरस के सामुदायिक संक्रमण का मामला सामने आया है। निरसा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कार्यरत नर्स को आसनसोल से धनबाद लाया गया। महिला बैंककर्मी के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद संक्रमण के दायरे में दर्जनों लोग आ गए हैं। फंड की कमी का हवाला देते हुए सूबे का पहली आठ लेन सड़क का काम रोक दिया गया। झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) की केंद्रीय समिति ने धनबाद महानगर अध्यक्ष देबू महतो को पद से हटा दिया।

कोरोना वायरस के सामुदायिक संक्रमण का खतरा : धनबाद में पहली बार कोरोना वायरस के सामुदायिक संक्रमण का मामला सामने आया है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (CHC) निरसा के प्रभारी डॉ. एसके गुप्ता के संपर्क में आने वाले भी जांच में पॉजिटिव पाए गए हैं। डॉ. गुप्ता के परिवार के सात लोगों में संक्रमण पाया गया है। इनमें डॉ. की पत्नी, दो बेटी और एक बेटा है। वहीं, डॉक्टर के झरिया स्थित ससुराल में दो साली और सास भी संक्रमित पाई गई। मंगलवार को सभी मरीजों को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सेंट्रल अस्पताल (कोविड-19) में भर्ती कराया। हालांकि स्वास्थ्य विभाग फिलहाल इस प्रकरण का सामुदायिक संक्रमण मानने के लिए तैयार नहीं है। उसका कहना है कि जांच की जा रही है।

विभागीय दबाव के बाद धनबाद पहुंची नर्स : निरसा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कार्यरत नर्स को बुधवार को आसनसोल उसके घर से धनबाद लाया गया। यहां सदर असप्ताल में नर्स का स्वाब संग्रह किया गया। नर्स की तबीयत ठीक नहीं है। नर्स के साथ आसनसोल में उसके परिवार के पांच लोग और रहते हैं। अब सिविल सर्जन ने पश्चिम बंगाल सरकार को इसकी सूचना दी है। साथ ही आसनसोल में उनके परिवार के सदस्यों की जांच करने की अपील की है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि नर्स धनबाद आना नहीं चाह रही थी, लेकिन विभागीय दबाव के बाद यहां पहुंची है। कोरोना संक्रमण संबंधित जानकारी छुपाने के कारण उस पर कार्रवाई भी की जा सकती है।

महिला बैंककर्मी के पॉजिटिव पाए जाने के बाद संक्रमण के दायरे में दर्जनों लोग : कोरोना वायरस से संक्रमित डॉ. गुप्ता की बड़ी बेटी की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। बड़ी बेटी कोला कुसमा सराय ढेला के एक निजी बैंक में नौकरी करती है। लड़की की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद पूरे बैंक में हड़कंप मच गया है। बुधवार को बैंक से जुड़े एक दर्जन लोग सिविल सर्जन कार्यालय पहुंचे। सभी लोगों को सदर अस्पताल स्वाब संग्रह करने के लिए भेजा गया। वहीं, महिला कर्मी के करोना पॉजिटिव आने से बैंक में दर्जनों लोग संक्रमण के दायरे में हैं। बता दें कि संक्रमित डॉक्टर की बेटी बैंक में लगातार काम करती रही। उन्हें पता नहीं था कि उनके पिता कोरोना वायरस से पॉजिटिव हो गए हैं। फिलहाल डॉक्टर और उनके तमाम परिजन सेंट्रल अस्पताल में भर्ती हैं।

झारखंड के पहले आठ लेन रोड का निर्माण सरकार ने रोका : जिसका अंदेशा था आखिरकार वही हुआ। सरकार बदली नियम कानून भी बदल गए। फंड की कमी का हवाला देते हुए सूबे का पहली आठ लेन सड़क का काम रोक दिया गया। इसी के साथ गोल बिल्डिंग से लेकर कांकोमठ तक इस 20 किमी के किनारे बसने वाले नए धनबाद का सपना भी टूट गया। इस सड़क के बनने से हीरक रोड आने वाले दिनों में धनबाद का हार्ट आफ टाउन होता। नगर निगम, मेयर और इसके पदाधिकारियों का कम से कम यही कहना था।

झामुमो ने धनबाद महानगर अध्यक्ष देबु महतो को पद से हटाया : झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) की केंद्रीय समिति ने धनबाद महानगर अध्यक्ष देबू महतो को पद से हटा दिया। केंद्रीय महासचिव विनोद पांडेय ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि देबु के खिलाफ केंद्रीय समिति सदस्यों के नाम पर भयादोहन करने की शिकायत मिल रही थी। इसी के मद्देनजर सात दिन के अंदर स्पष्टीकरण देने को कहा गया है। ऐसा नहीं होने पर देबू के खिलाफ संगठन की ओर से अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। इधर, देबु ने कहा कि वे सामाजिक कार्य करते रहे हैं और आगे भी करते रहेंगे। वे जल्द ही पार्टी को अपना जवाब भेज देंगे।

Posted By: Sagar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस