धनबाद : तथागत बीएड कॉलेज का पीछा विवादों से नहीं छूट रहा है। नया मामला मनमानी मासिक व परीक्षा फीस के साथ शैक्षणिक भ्रमण फीस वसूली का है। मामले को लेकर तथागत बीएड कॉलेज के छात्र-छात्राओं ने शनिवार को कुलपति डॉ. अंजनी कुमार श्रीवास्तव और डीन स्टूडेंट वेलफेयर डॉ. एलबी सिंह से भेंट कर अपना शिकायत पत्र सौंपा। पत्र में बताया गया है कि तथागत प्रबंधन की ओर से परीक्षा शुल्क के एवज में 6050 रुपये और शैक्षणिक भ्रमण के लिए 5000 रुपये की मांग की गई है। छात्रों ने बताया कि मासिक फीस और परीक्षा फीस के नाम पर अधिक राशि वसूल की जा रही है। इसे लेकर छात्र-छात्राओं में बेहद रोष है।

30 हजार रुपये नहीं किया वापस

छात्र-छात्राओं ने बताया कि पहली सीनेट की बैठक में बीएड नामांकन फीस 1.50 लाख रुपये निर्धारित की गई थी। फीस बढ़ाने के विरोध में छात्रों ने आंदोलन का रुख अपनाया और अनशन पर बैठ गए थे। छात्रों के दबाव में फीस में 30 हजार रुपये कटौती करते हुए 1.20 लाख कर दिया गया था। सरकारी कॉलेजों में उपरोक्त राशि वापस कर दी गई, लेकिन तथागत कॉलेज प्रशासन ने अभी तक फीस लौटाने की जहमत नहीं उठायी। छात्रों ने बताया कि उपरोक्त राशि जमा नहीं करने पर परीक्षा में शामिल नहीं होने देने की धमकी भी दी जा रही है।

-----

विश्वविद्यालय ने मासिक फीस 2500 रुपये निर्धारित की है। इसके अलावा परीक्षा शुल्क न्यूनतम वसूल किया जाना है। शैक्षणिक भ्रमण को लेकर छात्रों के सुविधानुसार फीस की वसूली की जानी चाहिए। मामले पर उचित कार्रवाई की जाएगी। कोई भी निजी कॉलेज मनमाना फीस वसूली नहीं कर सकती है।

- डॉ. एलबी सिंह, डीएसडब्ल्यू, बीबीएमकेयू

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस