धनबाद, जेएनएन। दुष्कर्म की शिकार 11 साल की मासूम बच्ची छह महीने की गर्भवती है। कुस्तौर की रहने वाली बच्ची का चाइल्ड वेलफेयर कमेटी में बयान दर्ज किया गया। समिति सदस्य विद्योत्तमा बंसल के समक्ष उसने अपने साथ हुई हैवानियत की पूरी दास्तान बयां कर दी। उसने बताया कि जनवरी से ही उसके साथ हैवानियत हो रही थी। पड़ोस के बयोवृद्ध दुकानदार के पास वह अक्सर सामान लेने जाया करती थी। एक दिन मौका पाकर उसने सत्तू के शरबत में नशा मिलाकर पिलाया और गलत काम किया। काफी देर बाद होश आने पर उसे दर्द महसूस हुआ तो पेन किलर खिलाया। उसे बुरी तरह डराकर घेर भेज दिया।

दुकानदार मासूम के साथ लगातार मनमानी करता रहा। कभी घरवालों का डर दिखाकर तो कभी 20-30 रुपये देकर दुष्कर्म करता रहा। एक दिन जब उसकी मां का ध्यान पेट की ओर गया तो गैस की शिकायत मानकर दवा दे दी। इस बीच उसके दीदी और जीजाजी भी आ गये। गैस की दवा काम न आने पर डॉक्टर से परामर्श लिया। डॉक्टर ने टेस्ट कर उसके गर्भवती होने की पुष्टि कर दी। इसके बाद परिवार वालों ने दुकानदार को पकड़ कर पूछताछ की और पिटाई भी कर दी। फिर मामले की शिकायत थाने में की गई। 164 के बयान के बाद आरोपित को पकड़ कर जेल भेज दिया गया। 

सीडब्ल्यूसी सदस्य विद्योत्तमा ने बताया कि बच्ची का कोरोना जांच भी कराया गया जो निगेटिव निकला। उसके घर वाले साथ रखने को राजी हैं, जिस वजह से उसे उन्हीं के साथ भेज दिया गया। दोषी को पकड़ लिया गया है। अब उस बच्ची को सरकार की ओर से मिलने वाली सुविधाएं मुहैया कराने की कोशिश की जाएगी। 

 

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस