जागरण संवाददाता, देवघर : व्यवसाय में अधिक मुनाफा दिलाने व लोन पर गाड़ी, फ्रिज, टीवी आदि सामान दिलाने के नाम पर एक दर्जन से अधिक लोगों से लगभग एक करोड़ रुपये ठगी करने का मामला प्रकाश में आया है। मामले की शिकायत कराने को लेकर पीड़ितों का दल रविवार को नगर थाना पहुंचा। यहां सभी ने लिखित शिकायत की। मामले को लेकर नंदन पहाड़ मोहल्ला निवासी देवेन्द्र कुमार ने बताया कि आरोपित सुरातिलौना मोहल्ला (स्थायी पता मालूम नहीं) निवासी समर कुमार दास व उनकी पत्नी रीना मंडल अपने तीन सहयोगियों जसीडीह थाना क्षेत्र निवासी प्रदीप यादव, नीतीश यादव व बबलू यादव के साथ मिलकर लोगों से ठगी करने का काम करते थे। लोगों को झांसे में लेने के लिए आरोपितों ने झौसागढ़ी मोहल्ले में दत्ता एंड दास आयन नाम शोरूम खोला। जहां नई और पुरानी गाड़ी को बेचा जाता था। इसके अलावा भगवान टॉकिज के पास आरएस इंटरप्राइजेज, सुभाष चौक के पास ऑपोलो क्लीनिक व भगवान टॉकिज के पास ऑपोलोजी क्लीनिक के नाम से संस्थान खोला रखा था। व्यवसाय का प्रलोभन देकर लोगों को झांसे में लेकर काम कर रहा था। इसी क्रम में उन्हें और उनके परिजन से 11.50 लाख रुपये लिया। इसमें पांच लाख रुपये चेक के माध्यम से उसे भुगतान किया गया। उसने चेक देकर होली के बाद इसे बैंक में डालने को कहा। वहीं दो गाड़ी भी लोन से दिलाने का प्रलोभन दिया। इसमें एक गाड़ी देवघर स्थित एक बैंक से लोन भी करा लिया और बैंक से 14 लाख का भुगतान भी ले लिया। वहीं दुमका स्थित एक शोरूम से उनके नाम पर दूसरी गाड़ी भी निकाल लिया लेकिन उसे गाड़ी नहीं दिया। बल्कि दोनों गाड़ी लेकर वह और उसका सहयोगी फरार हो गया। इसी बीच शनिवार को जब भगवान टॉकिज स्थित उसके कार्यालय पहुंचे तो ऑफिस बंद पाया गया। पता चला कि पूर्व वार्ड पार्षद सहित दर्जन लोगों को ठगी का शिकार बना चुका है। किस-किस को बनाया ठगी का शिकार

शिकायत के अनुसार देवेन्द्र कुमार से 11.50 लाख, पूर्व पार्षद अनुप कुमार वर्णवाल से 17 लाख, अनुज कुमार से 6 लाख, अंजन कुमार से 18 लाख, अवध किशोर से 7 लाख, रवि रंजन से 2 लाख, अभिजीत कुशवाहा से 1.60 लाख, नितिश कुमार से 1.40 लाख, जितेन्द्र कुमार सिंह से 1 लाख ठगी कर फरार हो गया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप