संवाद सहयोगी, सारठ, देवघर : विद्यालय प्रबंधन समिति मवि सारठ बालक के सदस्यों ने बैठक कर उपाध्यक्ष सह संयोजिका रिकू देवी को हटाकर उनके जगह पर सदस्य कल्याणी देवी को सर्वसम्मति से उपाध्यक्ष बनाया। सदस्यों ने पूर्व उपाध्यक्ष सह संयोजिका रिकू देवी पर कई गंभीर आरोप लगाया है। सदस्यों का आरोप है कि संयोजिका समय पर विद्यालय नहीं आती हैं।

बैठक में संयोजिका के जगह पर उनके पति घनश्याम वर्मा आते हैं। मना करने पर शिक्षकों से ही उलझ जाते हैं। इससे विद्यालय का अनुशासन व शैक्षणिक माहौल खराब हो रहा था। चेक में साइन कराने के एवज में पैसे की मांग करते हैं। हर तरह से विद्यालय विकास के कार्यों में अड़चन लगाते हैं। इससे तंग आकर सदस्यों ने बीते 27 जून को बैठक कर सर्वसम्मति से संयोजिका रिकू देवी को हटा दिया। इसकी सूचना प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी व अन्य अधिकारियों को दे दिया गया है। वहीं नवचयनित उपाध्यक्ष सह संयोजिका का नाम विप्रस व सरस्वती वाहनी के खाते में जोड़ने के लिए पत्र लिखा गया है। विद्यालय के सचिव इदरीस अंसारी, सहायक शिक्षक स्कंद कुमार सिन्हा आदि ने कहा कि विप्रस के सदस्यों ने बैठक कर उपाध्यक्ष रिकू देवी को हटाकर कल्याणी देवी को उपाध्यक्ष बनाया है।

पूर्व उपाध्यक्ष के पति अक्सर स्कूल के कार्यों में अनावश्यक रूप से हस्तक्षेप करते थे। मना करने पर सदस्यों व शिक्षकों से झगड़ा करते थे। मौके पर सदस्य संतोष मिर्धा, गौतम दे, छोटू वर्मा, देवकी देवी, गुड़िया देवी, सजदा बीबी, सज्जाद शेख, तमजिद, कल्याणी देवी आदि ने भी पूर्व उपाध्यक्ष व उनके पति के व्यवहार पर दुख जताया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस