मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

संवाद सहयोगी, मधुपुर (देवघर) : लोकसभा चुनाव के मद्देनजर आदर्श आचार संहिता का अनुपालन सख्ती से करने को लेकर मंगलवार को प्रखंड कार्यालय कक्ष में बीडीओ सह सहायक निर्वाचक निबंधन पदाधिकारी रश्मि रंजन ने विभिन्न राजनीतिक दलों के अध्यक्षों के साथ बैठक की।

उन्होंने आदर्श आचार संहिता के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देते हुए गंभीरता के साथ अनुपालन करने की बात कही। कहा कि पूर्व से जितने भी बैनर तथा दीवाल लेखन हुआ है, उसे निर्धारित समय के अंदर हटा लें, अन्यथा चुनाव खर्च में सब जोड़ दिया जाएगा। चुनाव घोषणा के उपरांत आदर्श आचार संहिता प्रभावी हो गया है। ऐसे में सभी राजनीतिक दल व एजेंसियों की ओर से लगाए गए पोस्टर, बैनर 24 घंटे के अंदर हटा लें। यदि वह स्वयं नहीं हटाएंगे तो प्रशासन पोस्टर बैनर हटाएगा और इसका खर्च संबंधित राजनीतिक दलों और एजेंसियों से वसूला जाएगा। वहीं निजी मकानों में लगे बैनर पोस्टर को दो दिनों के अंदर हटाने को कहा गया। कहा कि किसी भी सरकारी भवन में प्रचार-प्रसार व झंडा बैनर लगाना निषेध है। अगर किसी के निजी घर में पार्टी का झंडा बैनर लगता है तो घर के मालिक की लिखित अनुमति होना अनिवार्य है। अनुमति का एक प्रति घर के मालिक के पास होना चाहिए। ताकि चुनाव पर्यवेक्षक के जाने पर उसे दिखाया जा सके। अनुमति लिए बगैर झंडा, बैनर एवं दीवाल लेखन करने पर संबंधित पार्टी पर आदर्श आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज कराया जाएगा।

वीडियो ने कहा कि शांतिपूर्ण मतदान संपन्न कराने में सभी राजनीतिक दलों को अपेक्षित सहयोग करना है। बताया कि लोकसभा चुनाव में एक प्रत्याशी को चुनाव के दौरान 70 लाख तक खर्च करने का प्रावधान चुनाव आयोग ने किया है। बैठक में पार्टी अध्यक्षों ने जल्द ही इसे हटा लेने की बात कही।

मौके पर प्रखंड सहकारिता पदाधिकारी अशोक कुमार, भाजपा प्रखंड अध्यक्ष दीनदयाल शाही, भाजपा नगर अध्यक्ष अवनी भूषण, सांसद प्रतिनिधि हेमंत नारायण सिंह, कांग्रेस प्रखंड अध्यक्ष त्रिपुरारी सिंह, नगर अध्यक्ष मोहम्मद सादिक अंसारी उर्फ श्याम, झामुमो प्रखंड अध्यक्ष दिनेश्वर किस्कू, झाविमो प्रखंड अध्यक्ष उमेश रजक, राजद प्रखंड व नगर अध्यक्ष अरविद सिंह यादव, नगर परिषद प्रधान सहायक ओमप्रकाश पांडे व अन्य मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप