संवाद सहयोगी, चितरा : कोयला औद्योगिक प्रतिष्ठान एसपी माइंस के चार अधिकारी कोविड-19 के संक्रमण का शिकार हो गए हैं। बावजूद इसके ना तो क्षेत्रीय कार्यालय और ना ही कोल डंप में काम करने वाले असंगठित मजदूर एहतियात बरत रहे हैं। बेपरवाह होकर सभी मजदूर कार्य कर रहे हैं। किसी को भी परवाह नहीं है। अप्रैल 2021 में अब तक चार लोग संक्रमण का शिकार हो चुके हैं। इसमें एसपी माइंस के एक अधिकारी भी हैं। सबसे पहले क्षेत्रीय विक्रय प्रबंधक संक्रमित हुए। क्षेत्रीय महाप्रबंधक कार्यालय परिसर में ही विभिन्न विभागों के दफ्तर हैं। जिनमें रोजाना सैकड़ों लोगों की आवाजाही होती है। मुख्य द्वार पर आवागमन पर रोक, जांच, एहतियात बरतने संबंधी कोई कदम नहीं उठाया गया है। हालांकि अधिकारी व लिपिक मास्क इस्तेमाल करते दिख जाते हैं। लेकिन बहुसंख्यक लोग बिना मास्क प्रयोग के ही इधर-उधर घूमते नजर आते हैं। उधर कोल डंप में काम करने वाले असंगठित मजदूर बेखौफ कोयला लदान करते नजर आते हैं। मास्क का इस्तेमाल करने की बातें दूर की है। वह गमछा तो साथ में लाते है लेकिन इसका इस्तेमाल नहीं करते है। जबकि कोयला चूर्ण सांस के दौरान फेफड़े में जाने से रोकने के लिए यह अति आवश्यक है। बड़ी बात यह है कि स्थानीय ट्रक चालक अपने वाहन को लेकर देश के विभिन्न भागों में जाते हैं जहां कोरोना संक्रमण का प्रकोप बहुत अधिक है। ऐसे में चालक खुद संक्रमित होकर मजदूरों में इसका प्रसार कर सकते हैं। इसीलिए कोविड-19 के संक्रमण से बचाने के लिए व्यापक तौर पर जागरूकता अभियान यहां चलाने की जरूरत है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021