धनबाद, जेएनएन। देवघर-जसीडीह पैसेंजर ट्रेन हादसे के पीछे के कारणों का पता लगाने की कोशिशें तेज हो गई है। इसके लिए जांच दल तमाम जानकारियां हासिल करने में जुटी है। चालक का मोबाइल जब्त कर काल रिकार्ड्स खंगाला जा रहा है। प्रारंभिक पूछताछ में ब्रेक की गड़बड़ी की बात सामने आई है।

इधर, दुर्घटना की जानकारी मंडल कार्यालय आसनसोल को मिलने पर एक्सीडेंटल रिलीफ ट्रेन से एआरटी टीम को घटनास्थल के लिए रवाना किया गया। टीम में शामिल सीनियर डीएसओ एच पाल, सीनियर डीईई अविनाश कुमार समेत अन्य ने मौके पर पहुंचकर मामले की छानबीन शुरू कर दी है। इस क्रम में जांच टीम ने चालक से घटना की विस्तृत जानकारी ली।

जांच टीम को चालक ने बताया कि सत्संग हॉल्ट पार करने के बाद ही गाड़ी में ब्रेक की गड़बड़ी की आशंका को लेकर वरीय अधिकारी को जानकारी दी गई थी, लेकिन वरीय अधिकारी की ओर से किसी प्रकार की पहल नहीं होने के कारण इस प्रकार की घटना हुई है। पूछताछ के बाद जांच टीम के सदस्यों ने चालक का मोबाइल जब्त कर जांच करने की बात कही। जांच टीम को आशंका है कि संभवत: चालक मोबाइल पर किसी अन्य व्यक्ति से बात कर रहा था, जिसके कारण लापरवाही में यह हादसा हुआ।

घटना को लेकर डीआरएम सुमित सरकार ने बताया कि बड़ी दुर्घटना होने से बची है। किसी प्रकार के जान-माल की क्षति नहीं हुई है। घटना की जांच स्तरीय टीम से कराई जाएगी। घटना में दोषी पाए जाने वाले कर्मियों पर कारवाई होगी।

बता दें कि शुक्रवार की सुबह आसनसोल डिवीजन क्षेत्र के जसीडीह स्टेशन पर बैद्यनाथधाम-जसीडीह पैसेंजर ट्रेन दुर्घटनाग्रस्त हो गई। हालांकि ट्रेन में सवार सभी यात्री बाल-बाल बच गए। जानकारी के अनुसार, 63154 पैसेंजर ट्रेन बैधनाथधाम स्टेशन से सुबह 9:33 में खुली और 9:50 में जसीडीह स्टेशन पर पहुंची, मगर ठहराव पर ब्रेक नहीं लगने के कारण ट्रेन का अगला हिस्सा सुरक्षा दीवार को तोड़ते हुए 15 फीट बाहर निकल गया। ट्रेन में लगभग 70 यात्री सवार थे।

Posted By: Sunil

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस