जागरण संवाददाता, देवघर : स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 में देवघर नगर निगम को बेहतर अंक दिलाने के लिए मूल्यांकन शुरू हो गया है। शनिवार को नगर प्रशासक शैलेंद्र कुमार लाल की ओर से गठित टीम के सदस्यों ने निगम क्षेत्र स्थित सरकारी-गैर सरकारी अस्पताल, स्कूल, सरकारी भवन कार्यालय, बाजारों का दौरा किया।

टीम ने नया सदर अस्पताल, नगर निगम कार्यालय भवन, अनुमंडल पदाधिकारी कार्यालय, लक्ष्मी मार्केट सहित अन्य कई स्थानों का दौरा किया। टीम ने स्वच्छता के मापदंडों का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान इन जगहों पर स्वच्छता से संबंधित उपायों का डाक्यूमेंट तैयार किया गया। इसके आधार पर इनका मूल्यांकन किया जाएगा।

टीम निरीक्षण के दौरान अस्पताल में डस्टबिन की किस तरह से व्यवस्था की गई है। मेडिकल वेस्ट का डिस्पोजल के निष्पादन और अस्पताल में सफाई को लेकर क्या-कुछ किया गया है। वहीं सरकारी कार्यालय भवनों में सफाई, वाटर हार्वेस्टिग, कचरा निष्पादन को लेकर कौन-सा तरीका अपनाया जाता है। स्कूलों में बालक-बालिकाओं के लिए अलग-अलग शौचालय की व्यवस्था, बालिका के शौचालय में लाल डस्टबिन की व्यवस्था, हाथ धोने के लिए हैंडवाश, हैंड ड्रायर की व्यवस्था है या नहीं। बाजार के दुकानों में सफाई से लेकर कचरा निष्पादन और प्लास्टिक का जीरो यूज व गीला और सूखा कचरा के लिए अलग-अलग डस्टबिन का इंतजाम किया गया है या नहीं। इस सभी बातों का पूरा ब्योरा टीम की ओर से तैयार किया जाता है। इसी आधार पर स्वच्छ सर्वेक्षण को लेकर मूल्यांकन किया जाएगा। मूल्यांकन का काम नगर प्रबंधक सतीश कुमार दास की देखरेख में किया जा रहा है। टीम में सहायक सदाशिव जजवाड़े, टैक्स कलेक्टर दिनेश देव, कंप्यूटर आपरेटर मनोज कुमार गुप्ता सहित अन्य शामिल थे।

Edited By: Jagran