देवघर : साइबर पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर करौं व मारगोमुंडा थाना क्षेत्र से दो सगे भाई सहित चार साइबर आरोपितों को शनिवार सुबह गिरफ्तार किया। इनमें करौं थाना क्षेत्र के जगाडीह निवासी बलराम मंडल और राकेश मंडल उर्फ सीताराम मंडल, अकबर अंसारी व मारगोमुंडा के मुरलीपहाड़ी मोहल्ला निवासी इरफान अंसारी शामिल है। राकेश व बलराम रिश्ते में सगे भाई हैं। इन सभी के पास से 12 मोबाइल फोन, दो सिम कार्ड और एक एटीएम बरामद किया गया है।

बताया जाता है कि साइबर अपराधियों द्वारा कस्टमर केयर अधिकारी बनकर फोन के माध्यम से लोगों को झांसे में लेकर ठगी का शिकार बनाए जाने की गुप्त सूचना एसपी पीयूष पांडेय को मिली थी। एसपी ने आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए एक टीम का गठन कर छापेमारी करने का निर्देश दिया। साइबर इंस्पेक्टर कलीम अंसारी के नेतृत्व में पीएसआइ शैलेश कुमार पांडेय, रूपेश, गौतम कुमार वर्मा, प्रेम प्रदीप कुमार, पाण्डु सामद, गुरुदयाल सब्बर व सुमन कुमारी सहित आरक्षी प्रदीप, सपन, रंजन, अशोक पासवान और रतन कुमार दुबे की टीम ने करौं व मारगोमुंडा थाना क्षेत्र में छापेमारी कर आरोपितों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार साइबर आरोपितों ने साइबर अपराध में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज करते हुए न्यायिक हिरासत में भेजने की तैयारी की जा रही है।

छापेमारी कर दो सगे भाइयों के साथ चार साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है। कस्टमर केयर बनकर लोगों को अपना ठगी का शिकार बनाते थे। गिरफ्तार साइबर अपराधियों का अपराधिक इतिहास खंगाला जा रहा है।

पीयूष पांडेय, एसपी देवघर।

Edited By: Jagran