संवाद सूत्र, देवघर : बाबा मंदिर आए श्रद्धालुओं के साथ गलत आचरण के आरोप में सोमवार को पंडा धर्मरक्षिणी सभा ने दो लोगों को निष्कासित कर दिया है। सभा ने जिन लोगों को निष्कासित किया गया है, उनमें सन्नी पांडेय व गोपी चक्रवती शामिल हैं। दोनों मंदिर के समीप ही रहते हैं और श्रद्धालुओं को बाबा मंदिर में पूजा कराते थे। सभा के इस निर्णय के बाद उनसे यह अधिकार छिन गया है तथा मंदिर में उनका प्रवेश वर्जित कर दिया गया है। सभा ने इससे संबंधित सूचना सोमवार देर शाम बाब मंदिर के सिंह द्वार पर चस्पा कर दिया है, जिसमें कार्यालय आदेश का हवाला देते हुए कहा गया है कि सन्नी पांडेय व गोपी चक्रवर्ती को मंदिर में पूजा कराने के क्रम में गलत आचरण व सबसे दु‌र्व्यवहार करने के कारण दोनों को बाबा मंदिर से निष्कासित किया जाता है।

पंडा समाज से अपील की गई है कि दोनों व्यक्ति बाबा मंदिर में नजर नहीं आए, यह सुनिश्चित किया जाए। सभा के महामंत्री कार्तिक नाथ ठाकुर ने कहा कि बाबा मंदिर में लगे सीसीटीवी फुटेज में भी यह पाया गया कि उक्त लोगों ने पूजा कराने के क्रम में गलत आचरण किया है। इसके बाद सभा ने यह निर्णय लेते हुए दोनों को बाबा मंदिर से निष्कासित कर दिया है।

---------------

गंवाली पूजा के चंदा दर में वृद्धि

नगर शांति के लिए पंडा धर्मरक्षिणी सभा की ओर से गंवाली पूजा दो अप्रैल को होगी। इस सिलसिले में सभा की महत्वपूर्ण बैठक सोमवार देर शाम कार्यालय में हुई। सभा के अध्यक्ष सुरेश भारद्वाज की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में गंवाली पूजा के सफल संचालन को लेकर विस्तार से चर्चा की गई। निर्णय के अनुसार गंवाली पूजा के चंदा की दर 41 रुपए से बढ़ाकर 61 रुपया कर दिया गया है। पूजा को लेकर एक अप्रैल को मां शीलता को निमंत्रण दिया जाएगा, जबकि दो अप्रैल को कुंवारी भोजन, सुविधा केंद्र में कराया जाएगा। इस दौरान भारती पुस्तकालय को सुसज्जित व विकसित करने पर भी विचार किया गया। बमबम बाबा आश्रम के जीर्णोद्धार व शंकराचार्य के प्रतिमा को यहां स्थापित करने का निर्णय लिया गया। बैठक में महामंत्री कार्तिक नाथ ठाकुर, उपाध्यक्ष संजय मिश्र, मनोज मिश्र, शंकर सरेवार, मंत्री अरुणानंद झा सहित अन्य सदस्य मौजूद थे।

Posted By: Jagran