मधुपुर (देवघर) : गुरुवार को मधुपुर-गिरिडीह मुख्य पथ पर भिरखीबाद मोड़ के समीप चेकपोस्ट पर करीब एक दर्जन से अधिक बस व अन्य वाहनों से आए 316 मजदूरों को उतारा गया। सभी गुजरात, पंजाब केरल, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, तमिलनाडू से यहां पहुंचे थे। थर्मल स्क्रीनिग के दौरान मधुपुर प्रखंड के 69 मजदूरों की जांच की गई। इसमें 56 लोगों को क्वारंटाइन सेंटर भेजा गया। जबकि शेष लोग देवघर जिले के अलग-अलग प्रखंडों के थे। लोगों का तापमान सामान्य मिलने के बाद अलग-अलग वाहन से घर भेज दिया गया और उन्हें अगले 14 दिनों तक होम क्वारंटाइन में रहने की सख्त हिदायत दी गई। साथ ही किसी से भी नहीं मिलने-जुलने की सलाह दी गई। बताया गया कि लॉकडाउन के दौरान चेकपोस्ट पर 5400 से अधिक मजदूरों व छात्रों को स्वास्थ्य जांच के लिए रोका गया है। मौके पर सीओ सह दंडाधिकारी मनीष कुमार, डॉ. अजीत तिवारी, सहायक अभियंता मुकेश कुमार, अवर पुलिस निरीक्षक प्रवीण कुमार शर्मा समेत सुरक्षाकर्मी उपस्थित थे। 100 प्रवासी मजदूरों का हुई स्क्रीनिग, 12 क्वारंटाइन : बुधवार को 100 मजदूरों का स्वास्थ्यकर्मियों की अलग-अलग टीम द्वारा थर्मल स्क्रीनिग की गई। इसमें 12 लोगों को क्वारंटाइन सेंटर भेजा गया। जबकि अन्य लोगों को होम क्वारंटाइन में 14 दिनों तक रहने की हिदायत दी गई। अस्पताल उपाधीक्षक डॉ. सुनील कुमार मरांडी ने कहा कि अनुमंडल अस्पताल में 4030 से अधिक लोगों का थर्मल स्क्रीनिग की गई है। गुरुवार तक मधुपुर शहरी क्षेत्र के क्वारंटाइन सेंटरों में 219 लोग क्वारंटाइन किए गए हैं। जबकि मधुपुर प्रखंड के विभिन्न पंचायतों में 316 लोगों को क्वारंटाइन किया गया है। इस तरह मधुपुर शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में कुल 535 लोग क्वारंटाइन पर हैं। लेकिन अब तक मात्र 29 लोगों का ही स्वाब का सैंपल जांच के लिए धनबाद पीएमसीएच भेजा गया है। अनुमंडल अस्पताल में दूसरे राज्यों से मधुपुर लौटने वाले मजदूरों की स्वास्थ जांच एवं थर्मल स्क्रीनिग कार्य में अमर महतो, प्रियंका कुमारी, निरोला रोज मरांडी, सुनीता कुमारी, ब्यूटी कुमारी पूरे मुस्तैदी के साथ लगे हुए हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस