चतरा, जेएनएन। जब चुनावी अखाड़े में कुश्ती लड़ने के लिए नाम लिखा ही दिए हैं तो फिर चुनाव लड़ने से भला कोई परहेज कैसे कर सकता है। लोग खां-म-खां चतरा वाली मैडम को निशाना बना रहे है। कहते फिर रहे हैं कि इस बार कहीं टिकट का जुगाड़ नहीं हो पा रहा है। अरे भाई इतनी जल्दी भी क्या है। चतरा में तो चौथे चरण में 29 अप्रैल को चुनाव होना है। तब तक मैडम कोई ना कोई जुगाड़ लगा ही लेगी।

इसके लिए चाहे रांची से दिल्ली एक करना क्यों न पड़े। दिल्ली और रांची को एक करना क्या पड़ेगा, मैडम ने एक कर ही दिया है। कोई सप्ताह ऐसा नहीं बीत रहा है, जब मैडम की उड़ान रांची से दिल्ली की ना रही हो। क्योंकि मामला आन, बान और शान का है। पिछली बार कंघी वाली पार्टी ने मैडम को चुनावी अखाड़े में उतारा था। चुनाव में पूरा दम दिखाकर मैडम ने प्रतिष्ठा के अनुरूप वोट बटोरने में कामयाबी पाई थी। इस बार भी मैडम कंघी लेकर ही मैदान में उतरना चाह रही थी।

लेकिन सुनने में आ रहा है कि लालो के एक लाल ने उन्हें जवाब दे दिया है। तब से मैडम और तैश में आ गई है। चतरा से चुनाव लड़ने का तो उन्होंने ऐलान भी कर दिया है। अब सिर्फ जरूरत है टिकट की। उसकी जुगाड़ में भी मैडम दिन रात एक किए हुए हैं। पता चला है कि शुरुआत में मैडम लालटेन वाले दरबार में गई थी। लेकिन वहां बात नहीं बन पाई। अब फूल वाली पार्टी की गणेश परिक्रमा कर रही है। यहां भी टिकट का जुगाड़ हो पाएगा कि नहीं यह तो फूल वाली पार्टी या मैडम ही जाने।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस