गिद्धौर स्वास्थ्य केंद्र को मिला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का दर्जा

सुविधाएं नदारद व्यवस्था डामाडोल फोटो-12 संवाद सहयोगी, गिद्धौर (चतरा): प्रखंड मुख्यालय स्थित अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र गिद्धौर को राज्य सरकार द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का दर्जा तो मिल गया है। परंतु सुविधाएं नदारद है और व्यवस्था डामाडोल है। बताया गया कि गिद्धौर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से प्रखंड के सभी उप स्वास्थ्य केंद्र के साथ-साथ पत्थलगड्ढा के सभी स्वास्थ्य केंद्रों का संचालन किया जाना है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 24 घंटा स्वास्थ्य सुविधा लोगों को मुहैया कराई जाएगी।जबकि सभी तरह के उपचार के साथ साथ सभी प्रकार के टीके की व्यवस्था भी होगा। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र उत्क्रमित होने के पश्चात चिकित्सकों की पद के साथ-साथ एएनएम, जीएनएम सहित कर्मियों की संख्या भी बढ़ जाएगी। ताकि लोगों को समुचित स्वास्थ्य सेवा मिल सके। यहां तक की समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एक प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी भी होगा। जिन के दिशा निर्देश में गिद्धौर व पत्थलगड्डा के विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों का संचालन होगा। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को सभी तरह की सुविधा से लैस किए जाने की योजना है। इटखोरी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डा. सुमित कुमार जायसवाल ने बताया कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के समापन के पश्चात समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के विकास का कार्य शुरू कर दिया जाएगा। गिद्धौर को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनने से गिद्धौर व पत्थलगड्डा के करीब 80000 ग्रामीणों को लाभ मिलेगा। :::::::::::::: फिलहाल व्यवस्था है डामाडोल अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र गिद्धौर को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में उत्क्रमित तो कर दिया गया। परंतु फिलहाल व्यवस्था काफी डामाडोल है। यहां पर न स्थाई रूप से कोई चिकित्सक हैं और ना ही अन्य कर्मी। वैसे में प्रखंड के ग्रामीणों को रात विरात में इलाज करवाने में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। गुरुवार के देर रात विषपान किये युवक का इलाज कराने परिजन यहां लाए थे। परंतु स्वास्थ्य केंद्र में मौजूद कोई भी स्वास्थ्य कर्मी उस युवक को देखने तक नहीं आए। वैसे में आक्रोशित ग्रामीणों ने युवक को सिमरिया इलाज कराने ले गए। फिलहाल युवक सही सलामत है।

Edited By: Jagran