चतरा : जिले का सर्वाधिक उग्रवाद प्रभावित और उपेक्षित थानों में शुमार लावालौंग की किस्मत बदलने वाली है। लावालौंग को प्रदेश के आदर्श थानों के लिए चयन किया गया है। प्रदेश के विभिन्न जिलों के कुल 14 थानों को इसके लिए चयन किया गया है। जिसमें लावालौंग का भी नाम है। पुलिस अधीक्षक अखिलेश बी वारियर ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस मुख्यालय ने प्रदेश के कुल चौदह थानों को मॉडल बनाने की घोषणा की है। जिसमें चतरा जिले का लावालौंग थाना भी शामिल है। एसपी ने कहा कि मॉडल थाना में आधारभूत सुविधाओं के साथ-साथ अन्य व्यवस्थाएं भी बहाल की जाएगी। उन्होंने कहा कि थाना को आधुनिक बनाने के लिए जल्द ही कार्य शुरू कर दिया जाएगा। पुलिस कप्तान ने कहा कि वर्तमान समय में वहां पर अधिकारियों और जवानों का स्वीकृत पद है, उसमें वृद्धि की जाएगी। वहां पदस्थापित जवान आधुनिक हथियारों से लैश होंगे। जवानों के रहने के लिए बेहतर भवन होगा। एसपी ने कहा कि अपराध और उग्रवाद पर नियंत्रण के साथ-साथ विकास योजनाओं के क्रियान्वयन में भी पुलिस की भागीदार होगी। बताते चलें कि लावालौंग थाना की स्थापना हाल के ही वर्षों में हुआ है। उग्रवादियों की बढ़ती गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए थाना बनाया गया। उसके पूर्व वहां पर पुलिस का पिकेट था। सिमरिया से काटकर लावालौंग थाना का गठन किया गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस