जागरण संवाददाता, बोकारो : उपभोक्ताओं को कालड्रॉप की समस्या से निजात दिलाने के लिए सोमवार को भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (ट्राई) द्वारा उपभोक्ताओं तक पहुंच बढ़ाने संबंधित कार्यशाला का आयोजन होटल हंस रेजेंसी के सभागार में किया गया।

कार्यक्रम की शुरुआत उपायुक्त मृत्युंजय कुमार बरणवाल, ट्राई के संयुक्त सलाहकार पदाधिकारी जयंत काले एवं चैंबर के अध्यक्ष मनोज चौधरी दीप प्रज्जवलित कर किया। कहा कि भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण के कारण दूरसंचार के सेवादाताओं में पारदर्शिता आयी है। उपभोक्ताओं को बेहतर सेवाएं मिल रही है। उन्होंने कहा कि ट्राई ने भारतीय दूरसंचार को एक नई दिशा देकर दुनिया के समक्ष मिशाल पेश की है तथा इसकी पहुंच हर भारतीयों तक काफी तीव्र गति से हो रही है। ट्राई के हस्तक्षेप से दूरसंचार सेवाप्रदाताओं के बीच बेहतर सेवा देने की होड़ भी लग गई है।

कार्यशाला में उपस्थित उपभोक्ताओं ने ट्राई के पदाधिकारियों को कालडॉप संबंधित अपनी समस्या से अवगत कराया कहा कि व्यस्त टोन, बात करने पर दूसरी तरफ आवाज नहीं जाना, 4जी सिम होने के बावजूद नेट की सुविधा नहीं मिल रही है। सब मिलाकर देखा जाए तो कॉल ड्रॉप की समस्या के साथ सबसे खराब स्थिति वाइस कॉ¨लग की है। कई केबल उपभोक्ता द्वारा केबल ऑपरेटरों द्वारा मनमाना दाम बढ़ाने सही चैनल नहीं दिखाने जैसी समस्या से अवगत कराया।

ट्राई के सलाहकार पदाधिकारी एसके दास ने कहा कि कालड्रॉप की समस्या किसी न किसी रूप में उपभोक्ताओं के लिए सिरदर्द बनती जा रही है। पिछले कुछ दिनों से जिले में कालड्रॉप की समस्या में लगातार इजाफा हो रहा है। ट्राई की तरफ से एक निगरानी टीम बना कर क्षेत्रवार कालड्रॉप की समस्या का पता लगा उस से छुटकारा दिलाया जाएगा। कार्यशाला में मुख्य रूप से ट्राई के सलाहकार पदाधिकारी एसके दास, सीनियर रिसर्च आफिसर ए बासद, चैंबर के प्रदीप ¨सह सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप