सीसीएल ढोरी प्रक्षेत्र के बंद पिछरी कोलियरी के रैयतों ने सीसीएल सीएमडी के नाम का एक ज्ञापन ढोरी महाप्रबंधक को मंगलवार को संरक्षक आशीष पाल के नेतृत्व में ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में मुख्य रूप से पिछरी कोयलरी से प्रभावित गांव जामताड़ एवं टूंगरीकुल्ही का पुनर्वास स्थल चयन करने की मांग की गई। जिसमें विस्थापितों की ओर से कहा गया कि हिदुस्तान पुल के निकट हथिया पत्थर में इन दोनों टोलों के लोगों को बसाया जाए। कहा गया कि डीएडआरडी परियोजना से पूर्व में यहां सैकड़ों एकड़ भूमि अधिग्रहित की गई थी। जिस भूमि पर कारों के विस्थापितों को बसाने की बात चल रही है जो कि न्याय उचित नहीं है। क्योंकि पहले यहां के गांव के विस्थापितों को बसाया जाए उसके बाद अगर जगह बचती है तो उनको बसाया जाए। ढोरी महाप्रबंधक मनोज अग्रवाल ने मांग को गंभीरता से लेते हुए आश्वासन दिया कि विचार विमर्श करने के बाद प्रयास रहेगा की इन दोनों टोलों के लोगों को भी इसी स्थल बसाया जाए। सारे मामलों को मुख्यालय को जानकारी दे दी जाएगी। मौके पर काली सिंह, निमाई सिंह, देववीन मलाह, मनोज सिंह, सूर्यदेव मिश्रा, तुलसी सिंह आदि विस्थापित मौजूद थे।

Edited By: Jagran