जागरण संवाददाता, बोकारो: एमजीएम हायर सेकेंड्री स्कूल के अटल टिकरिग लैब में बुधवार को टेक्नो ज्ञान कार्यशाला का आयोजन किया गया। सम्मानित अतिथि दिल्ली पब्लिक स्कूल के प्राचार्य एएस गंगवार व स्कूल के प्राचार्य फादर रेजी सी वर्गीस ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया। प्राचार्य एएस गंगवार ने कहा कि विद्यार्थियों में वैज्ञानिक सोच व उद्यमिता की भावना विकसित करना जरूरी है। इसलिए इस दिशा में नीति आयोग की ओर से सकारात्मक काम किया जा रहा है। नीति आयोग की ओर से यहां अटल टिकरिग लैब की स्थापना की गई है। इसका उद्देश्य नवाचार परितंत्र को स्थापित करना है। इससे प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में नवाचार और शिक्षक व्यवस्था में व्यापक बदलाव आएगा। इसके माध्यम से बाल अन्वेषकों को तैयार किया जा सकेगा।

प्राचार्य फादर रेजी सी वर्गीस ने कहा कि विद्यार्थियों को प्रयोगशाला में नवाचार से परिचित कराया जा रहा है। इन्हें थ्री डी प्रिटर, रोबोटिक्स, इंटरनेट आफ थिग्स, माइक्रोप्रोसेसर से संबंधित ज्ञान दिया जा रहा है। एमजीएम स्कूल के अलावा आसपास के निजी व सरकारी विद्यालयों को तकनीक पर आधारित ज्ञान दिया जा रहा है। इससे विद्यार्थियों को लाभ हो रहा है। अटल टिकरिग लैब के शिक्षक जिबिन थामस ने एमजीएम हायर सेकेंड्री स्कूल के अलावा जीजीपीएस बोकारो, डीपीएस बोकारो, श्री अय्यप्पा पब्लिक स्कूल, संत जेवियर्स स्कूल बोकारो, कार्मेल स्कूल, कृष्णा सुदर्शन पब्लिक स्कूल, मिथिला एकेडमी पब्लिक स्कूल, क्रिसेंट पब्लिक स्कूल व सरदार पटेल पब्लिक स्कूल के विद्यार्थियों को थ्री डी प्रिटर, रोबोटिक्स, कंपोनेंट आफ ए सर्किट, इलेक्ट्रानिक सर्किट डिजाइन, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, ड्रोन व माइक्रोप्रोसेसर से संबंधित जानकारी दी। मौके पर उप प्राचार्य प्रभा एंथोनी यादव, एंसी वर्गीस,रीतेश कुमार श्रीवास्तव, रवि शंकर, विशाल कुमार, ऋषि चौधरी, इम्तियाज खान के अलावा विभिन्न विद्यालयों के विद्यार्थी उपस्थित थे।

-------

नीति आयोग की ओर से अटल टिकरिग लैब की स्थापना की गई है। इसके माध्यम से विद्यार्थियों को तकनीकी ज्ञान मिलेगा। साथ ही नई आइडिया से विज्ञान व प्रौद्योगिकी के क्षेत्र को विकसित करना संभव हो सकेगा।

रितेश कुमार श्रीवास्तव, शिक्षक जीजीपीएस बोकारो

------

लैब में विद्यार्थियों को ड्रोन, थ्रीडी प्रिटर के अलावा अन्य तकनीकी ज्ञान दिया जा रहा है। इससे विद्यार्थियों में वैज्ञानिक सोच विकसित होगी। यह बेहतर पहल है।

विशाल कुमार, शिक्षक डीपीएस बोकारो

----

लैब में विद्यार्थियों को हुनरमंद बनाया जा रहा है। स्कूली स्तर पर यह कार्य सराहनीय है। लैब में विद्यार्थी तकनीकी रूप से दक्ष बनेंगे। नीति आयोग का सराहनीय कदम है।

इम्तियाज खान, शिक्षक संत जेवियर्स स्कूल बोकारो

-----

लैब में विद्यार्थियों को तकनीक पर आधारित शिक्षा प्रदान की जा रही है। स्कूली स्तर पर विद्यार्थियों को तकनीकी ज्ञान मिलने से काफी लाभ होगा। इसके माध्यम से विद्यार्थी जीवन में आगे बढ़ेंगे।

रवि शंकर, शिक्षक श्री अय्यप्पा पब्लिक स्कूल

-----

जापान व चीन जैसे देश स्कूली स्तर पर ही बच्चों को तकनीकी का ज्ञान देते हैं । भारत में भी इसकी शुरुआत हो गई है। इससे आने वाले दिनों में देश में विज्ञान प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में तीव्र गति से विकास होगा।

ऋषिकेश चौधरी, शिक्षक मिथिला एकेडमी पब्लिक स्कूल

Edited By: Jagran