स्वांग (बेरमो) : भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल की मंजूरी मिलने पर राज्य सरकार ने गोमिया में ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉरपोरेशन (ओएनजीसी) को मिथेन गैस के व्यावसायिक उत्पादन के लिए पहले फेज में 3.55 एकड़ जमीन को 30 साल की लीज पर देने का निर्णय लिया है। बुधवार को इस आशय का पत्र सरकार की ओर से जारी किया गया।

इसमें गोमिया अंचल के विभिन्न मौजा के कुल 3.55 एकड़ भूमि 84,90,238 रुपये की अदायगी पर ओएनजीसी को कोल बेड मिथेन कुंआ के लिए 30 साल के लिए नवीकरण शर्त के साथ लीज पर सौंप दिया। पूर्व में यह मामला सीएनटी एक्ट के कारण खटाई में पड़ा था। गोमिया में कोलबेड मिथेन का विशाल भंडार :

ओएनजीसी को गोमिया में कोल बेड मिथेन का विशाल भंडार मिला है। इसके लिए कंपनी ने करीब 2800 करोड़ की लागत से बड़ी परियोजना की शुरूआत की है। कोल बेड मिथेन के व्यावसायिक उत्पादन शुरू होने पर राज्य प्राकृतिक गैस के मामले में काफी हद तक आत्मनिर्भर बन सकता है। इसे उपयोग में लाने के लिए पाइपलाइन का भी विस्तार किया जा रहा है। यहां105 कुएं खोदे जाने की योजना है। इसके अलावा सात लाख क्यूबिक मीटर गैस कलेक्टिंग स्टेशन भी गोमिया में बनाया जा रहा है। बताया जा रहा है कि गोमिया प्लांट पूरी तरह से चार सालों में प्रोडक्शन के लिए तैयार हो जाएगा। ओएनजीसी की इस महत्वाकांक्षी योजना का उद्घाटन करने बीते 25 फरवरी को केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान गोमिया आए थे। पांच जगह चल रहा है ओएनजीसी का काम

बोकारो जिले के गोमिया प्रखंड में ओएनजीसी पांच जगहों पर कोल बेड मिथेन गैस के लिए कुआं खोदने का काम शुरू किया है। इनमें खुदगढ़ा, असनापानी, दलाल टोला (साड़म), डुमरी बिहार और सियारी ग्राम शामिल है। अतिक्रमण की समस्या अब भी बरकरार :

ओएनजीसी को सीबीएम के व्यावसायिक उत्पादन के लिए इस वर्ष गोमिया अंचल में तीस कुएं की खुदाई करनी है। इसके साथ ही झरिया और दो नॉर्थ कर्णपुरा क्षेत्र में चल रही परियोजना के तहत क्रमश: दो-दो कुएं की खुदाई की जानी है। ओएनजीसी के सामने समस्या अतिक्रमण की है। अधिकतर प्रस्तावित कुआं तक पहुंचने के लिए गैरमजरूआ जमीन आड़े आ रही है, उक्त जमीन पर लंबे समय से स्थानीय लोगों का कब्जा है। इस जमीन के बदले मुआवजा नहीं दिया जा सकता है। इसको लेकर जमीन कब्जाधारियों और प्रशासन के बीच आए दिन ¨हसक झड़प की घटना भी सामने आती रही है। -------------------------सीबीएम के व्यावसायिक उत्पादन के लिए ओएनजीसी योजनाबद्ध तरीके से काम रहा है। अब तक गोमिया क्षेत्र में 6 कुएं की खुदाई की जा चुकी है वहीं गैस कलेक्टिंग स्टेशन का काम भी जारी है। चालू वित्त वर्ष में इसका व्यावसायिक उत्पादन शुरू करने को कंपनी आशांवित है। अतिक्रमण की समस्या से निपटने के लिए स्थानीय लोगों से बातचीत का सिलसिला भी जारी है।

- एनसी पांडेय, एक्सक्यूटिव डायरेक्टर, ओएनजीसी, गोमिया परियोजना। -

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप