जागरण संवाददाता, बोकारो :

जिले में नकली देसी विदेशी शराब के कारोबारियों के खिलाफ लगातार चल रहे अभियान में बुधवार को सबसे बड़ी कामयाबी बालीडीह पुलिस के हाथ लगी। क्षेत्र के कुंडौरी गांव में बालीडीह थाना इंचार्ज कमल किशोर ने देसी विदेशी शराब बनाने की एक फैक्ट्री का खुलासा किया। बीस लाख रुपये मूल्य की तैयार विदेशी शराब के अलावा कच्चा माल व अन्य सामान मौके से थाना इंचार्ज बरामद करने में कामयाब हुए। पांच चार पहिया वाहन भी यहां से जब्त किया गया। धंधेबाज विनोद साव अपने गुर्गों के साथ मौके से भागने में सफल हो गया। पुलिस इसकी गिरफ्तारी के लिए संभावित ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है। बताया जा रहा है कि थाना इंचार्ज को गुप्त सूचना मिली थी कि कुंडौरी गांव में भारी मात्रा में देसी विदेशी नकली शराब तैयार कर खपाने की तैयारी की जा रही है।

50 सिपाहियों के साथ अफसरों ने की घेराबंदी : बुधवार की अहले सुबह यह सूचना मिली थी कि धंधेबाज दो मारुति कार, एक महिन्द्रा पिक-अप-वैन, एक बोलेरो व एक ऑटो में शराब लादकर ले जाने की तैयारी कर रहे हैं। थाना इंचार्ज पचास सिपाहियों के साथ अहले सुबह छह बजे वहां पहुंचे। सूचना सही निकली। पुलिस के आने के पहले ही वहां शराब लाद रहे वाहन चालक समेत धंधेबाज भाग निकलने में कामयाब हो गए। जिस झोपड़ी में शराब रखी गई थी वहां की तलाशी लेने पर सौ मीटर में झाड़ियों के अलावा अन्य जगहों पर भी शराब रखी मिली। पुलिस ने लगभग छह घंटे तक चप्पे-चप्पे की तलाशी ली और वहां रखी शराब को जब्त किया।

ये सामान बरामद : पुलिस के अनुसार मौके से 180 कार्टन में तैयार शराब के अलावा 100 खाली बोतल, 1400 लीटर स्प्रिट, 30 किलो कलर के लिए डाले जाने वाला केरामिल, पचास किलो कॉर्क, देसी शराब तैयार करने वाला साठ किलो का दो रोल पाउच, रैपर समेत अन्य सामान बरामद हुआ। बरामद रैपर से लगभग एक लाख पीस पाउच देसी शराब तैयार हो सकती थी।

बोले अधिकारी :

बरामद नकली विदेशी शराब व कच्चे माल की कीमत लगभग बीस लाख रुपये आंकी गई है। धंधेबाज विनोद भागने में सफल हो गया। उसे दबोचने के लिए पुलिस दबिश दे रही है। जब्त शराब नकली और जहरीली है।

कमल किशोर, थाना इंचार्ज बालीडीह।

Posted By: Jagran