बोकारो : राज्य का कोई भी ऐसा हिस्सा नहीं जहां बिजली की आपूíत 24 घंटे होती है। जिले के लगभग 20 फीसद ग्रामीण इलाकों में बिजली ही नहीं है। झारखंड के ग्रामीण इलाकों में केंद्र सरकार की पंडित दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना-डीडीयूजीजेवाई, डीडीयूजीजेवाई-12, अटल तथा राज्य योजना के तहत बोकारो जिले के गांवों का विद्युतीकरण किया जा रहा है।

विभाग ने मार्च 2018 तक जिले के 662 गांवों के 2708 टोला में विद्युतीकरण करने का लक्ष्य रखा था, पर मार्च बीत जाने के बाद भी विद्युत विभाग लक्ष्य को पूरा नहीं कर सका है। विद्युत विभाग ने नए सिरे से समीक्षा कर सौ फीसद घरों में बिजली पहुंचाने का नया लक्ष्य 31 जुलाई रखा था, पर जुलाई बीतने के बाद भी विभाग अपने लक्ष्य से कोसों दूर है। अब विभाग को एक माह का समय मिला है, जिसमें बचे हुए 34 हजार घरों में बिजली पहुंचाना है। एक माह में लक्ष्य पूरा करना विभाग के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है।

---------------------------------

गांवों की आधारभूत संरचना होगी मजबूत :

डीडीयूजीजेवाई के तहत गांवों में विद्युतीकरण के अलावा जिस गांव में पहले से बिजली है, वहां की बिजली आपूíत की आधारभूत संरचना को भी मजबूत करना है। इसके तहत लोड के अनुसार पुराने ट्रांसफार्मर बदल कर नए लगाए जाएंगे एवं जर्जर हो चुके बिजली के तारों व पोल को भी बदला जाएगा। इससे आने वाले समय में बिजली आपूíत को लेकर कोई परेशानी का सामना ना करना पड़े।

----------------------------------

विद्युतीकरण का कार्य बड़ी तेजी से हो रहा है। 92 फीसद ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली पहुंच चुकी है और जल्द ही बाकी बचे जगहों पर भी पहुंच जाएगी।

- प्रतोष कुमार, विद्युत अधीक्षण अभियंता, चास प्रमंडल

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस